न्यायालय निर्माण के लिए आए 10 करोड़ रुपए वापस जाने की खबरों के बीच अधिवक्ताओं ने की नारे बाजी

अबुलकैश डब्बल (ब्यूरो)

* कचहरी के सामने लगाया जाम

चन्दौली। न्यायालय निर्माण के लिए जुलाई 2019 में मुख्यमंत्री से प्राप्त ₹10 करोड़ वापस जाने वाले हैं। यह खबर सुनते ही अधिवक्ता लामबंद हो गए ,उन्होंने जनपद एवं सत्र न्यायालय चंदौली के कचहरी परिसर में जमकर नारेबाजी की और कचहरी के सामने ओवर ब्रिज के पास जाम लगाया और धरना दिया । अधिवक्ताओंं का कहना था कि बहुत मेहनत करके अधिवक्ताओं ने मुख्यमंत्री से पैसा रिलीज कराया था, न्यायालय भवन के लिए जमीन भी उपलब्ध हो चुकी है फिर भी जिलाधिकारी न्यायालय का निर्माण नहीं करा रहे हैं और न्यायालय को अन्यत्र भेजने की फिराक में हैं । अधिवक्ताओं ने कहा कि हम ऐसा हरगिज़ नहीं होने देंगे और किसी भी कीमत पर न्यायालय चंदौली में ही बनेगा । आज जिला चंदौली को बने 25 वर्ष हो चुके हैं फिर भी अभी तक चंदौली न्यायालय भवन के लिए तरस रहा है, यहाँ बुनियादी सुविधाओं का अभाव है, अधिवक्ताओं, वादकारियो को बैठने की व्यवस्था की नहीं है । मैंने मुख्यालय व न्यायालय भवन निर्माण के लिए बड़ा आन्दोलन किया है, अपनी बांह पर काली पट्टी बांधकर लगातार 5 4 माह 28 दिन वर्ष लगातार संघर्ष किया । इस संघर्ष को यूँ जाया नहीं जाने देंगे । जिलाधिकारी व संबन्धित अन्य अधिकारियों की न्यायालय भवन के निर्माण में रुचि नहीं ले रहे हैं ।तथा वित्तीय वर्ष बितने की कगार पर है, न्यायालय निर्माण के लिए अवमुक्त धन वापस हो जायेगा ।
ए डी एम बच्चालाल अधिवक्ताओं के बीच पहुँच कर ,उन्हें समझाया और उनसे पत्रक लिया, अधिवक्ताओं ने एक सप्ताह के अन्दर न्यायालय भवन के जमीन की रजिस्ट्री शुरू कराने का अल्टीमेटम देते हुए धरना प्रदर्शन समाप्त किया ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!