नागरिकता संशोधन कानून सरकार को वापस लेना पड़ेगा, नहीं तो सरकार को ही वापस होना पड़ेगा- यशवंत सिन्हा

अलीगढ़ में गाँधी संदेश यात्रा लेकर पहुँचे देश के पूर्व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा का बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वागत सत्कार किया। इस दौरान समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जमकर केंद्र सरकार व नागरिकता संशोधन कानून को लेकर अपनी अपनी भड़ास निकाली। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने समाजवादी पार्टी में शामिल होने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि ये अखिलेश यादव का बड़प्पन है कि उन्होंने गांधी संदेश यात्रा में अपना सहयोग दिया है। हमने समाजवादी पार्टी जॉइन नहीं की है। जहां-जहां यूपी में हम जा रहे हैं वहां पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता हमारे साथ आ रहे हैं। रही बात नागरिकता संशोधन कानून की तो इसे सरकार को वापस लेना पड़ेगा नहीं तो सरकार को ही वापस होना पड़ेगा।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जिस प्रकार से संसद में सीएए पास हुआ और उसके बाद एनआरसी को लाने की बात चल रही है। उससे एक प्रकार से भय और अशांति का माहौल देश मे उत्पन्न हो गया है। कई लोग उस दौरान मारे गए, इसलिए हम लोग शांति के लिए गांधी संदेश यात्रा निकाल रहे हैं। 9 जनवरी से शुरू होकर इस यात्रा का समापन 31 जनवरी को होगा। दिल्ली में बैठी केंद्र की व यूपी की सरकार ने इन दिनों में जितना ज़ुल्म बच्चों व महिलाओं के ऊपर ढाया है। सरकार को नौजवानों की पढ़ाई व महिलाओं की सुरक्षा की कतई चिंता नहीं है। दिल्ली चुनाव में जो भाषा बड़े नेताओं द्वारा अपनायी जा रही है वह भाषा प्रजातंत्र की भाषा कतई नहीं है। इससे प्रजातंत्र भी शर्मसार हो रहा है। शरजील की गिरफ्तारी व उस पर सही गलत का निर्णय कोर्ट को लेना है। क्योंकि आज कल वीडियो के साथ छेड़छाड़ भी हो सकती है। हमारी मांग है सरकार सीएए एनआरसी को वापस ले वरना सरकार को वापस होना पड़ेगा। हमने अभी समाजवादी पार्टी को जॉइन नहीं किया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!