बालू अवैध खनन में वन कर्मियों के सौतेले व्यवहार से खननकर्ताओ में बढ़ रहा आक्रोश

जनपद न्यूज ब्यूरो

-कुछ विशेष लोगो को अवैध खनन में छूट देने का आरोप

-सत्ता पक्ष के एक तथाकथित नेता भी खनन में शामिल

-व्यवसायी किस्म के कुछ लोग ही लैरा नदी में धड़ल्ले से कर रहे हैं बालू का खनन

सोनभद्र। वन प्रभाग रेनुकूट के म्योरपुर रेंज वन क्षेत्र मे स्थित लैरा पिकनिक स्पॉट,करकोरी,डूडी पीपर नदी से बालू का अवैध खनन धड़ल्ले से चल रहा है जिसमें वनकर्मी द्वारा व्यवसायी किस्म के कुछ लोगों को ही खनन की खुली छूट देकर काली कमाई का जरिया बना लिया गया है।
नदी से ट्रैक्टर द्वारा बालू लोड कर गन्तव्य तक पहुंचाया जा रहा है।अब अवैध बालू खनन में वन कर्मियों के सौतेले व्यवहार से हाथ मल रहे खनन कर्ताओं में आक्रोश बढ़ने लगा है।सूत्रों की मानें तो कुछ व्यवसायी किस्म के चिन्हित लोगों को ही नदी से बालू के खनन की छूट वन कर्मी दे रहे हैं उनके ट्रैक्टर दिन हो या रात कभी भी नदी से बालू लोड कर आ जाते हैं कोई पूछने वाला नही है।इनके आलावा यदि अन्य कोई व्यक्ति अगर अपना ट्रैक्टर लेकर अपने प्रयोग हेतु बालू लेने नदी चला जाता है तो पकड़ लिया जाता है लेकिन जो हमेशा बालू खनन में लिप्त है वे कभी पकड़ में नही आते है क्योंकि वह कर्मियों के लोकेशन में चलते हैं।यहां तक कि जो हमेशा खनन कर रहे हैं वे अन्य के ट्रैक्टर खुद पकड़वा देते हैं जिससे कि और ट्रैक्टर चलने लगेगा तो धंधा मन्दा पड़ जायेगा और बालू सस्ता बिकने लगेगा।बड़े गौर की बात है कि सत्ता पक्ष के म्योरपुर निवासी स्थानीय एक तथाकथित नेता का भी ट्रैक्टर उक्त बालू खनन में शामिल है। कुछ भी हो जैसा वर्तमान स्थिति हो रही है अगर बालू खनन पर अंकुश नही लगाया गया तो खनन कर्ताओं के गुट में भिड़ने की आशंका बन सकती है।इस सम्बन्ध में वन दरोगा विजेंद्र ने कहा कि सभी लोग को चेतावनी दे दी गयी है खनन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!