विकास कार्यों में शिथिलता क्षम्य नही- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव की अध्यक्षता में विकास/निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक गांधी सभागार, में सम्पन्न हुई।
वही बैठक में जिलाधिकारी द्वारा स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि संस्थागत प्रसवों के अन्तर्गत लाभार्थियों का शत-प्रतिशत भुगतान किया जाना सुनिश्चित किया जाये और जो लाभार्थी पिछले वर्ष के अवशेष हैं उनका भुगतान अगली समीक्षा बैठक तक कराना सुनिश्चित किया जाये।
जिलाधिकारी द्वारा आयुष्मान भारत योजना के गोल्डन कार्ड की प्रगति की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि समस्त ग्राम पंचायतों में आयुष्मान दिवस का आयोजन कर लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड जारी किये जाये।
डीएम द्वारा मनरेगा के कार्यों की समीक्षा के दौरान विकासखण्ड बरखेडा, मरौरी व बिलसण्डा द्वारा लक्ष्य के सापेक्ष कार्य न किये जाने पर असंतोष व्यक्त करते हुये खण्ड विकास अधिकारी बरखेडा, मरौरी एवं बिलसण्डा का स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिये गये।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक विद्यालयों में कायाकल्प योजना के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर कराये जाने हेतु निर्देशित करते हुये कहा कि समस्त खण्ड विकास अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कायाकल्प योजना के अन्तर्गत विद्यालयों का सौन्र्दीयकरण हेतु कराये जा रहे कार्यों की प्रगति रिपोर्ट फोटो सहित प्रति सप्ताह उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
जिला अधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, मुख्यमंत्री आवास योजना, खादय सुरक्षा, स्वयं सहायता समूह, 181 महिला हेल्पलाइन, वृद्धापेंशन, विधवा पेंशन, किसान पारदर्शी योजना, यूरिया की उपलब्धता, बीज उपलब्धता, प्रधानमंत्री रोजगार योजना, विकलांग पेशन, छात्रवृत्ति आदि योजनाओं की भी प्रगति समीक्षा की गई और पेंशन योजनाओं की समीक्षा के दौरान समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि वृद्धापेंशन के लाभार्थियों का पुनः एक बार सत्यापन करा लिया जाये तथा कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत लम्बित आवेदनों की जांच कर शीघ्र ही निस्तारण करना सुनिश्चित किया जाये। डीएम द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत आधार सीडिंग का कार्य पूर्ण न होने पर उप निदेशक कृषि को तत्काल कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि जिन कार्यदायी संस्थाओं के पास निर्माणाधीन विकास कार्यो हेतु धनराशि है, वह विकास कार्यों को समय से पूरा कराना सुनिश्चित करें और जो निर्माण कार्य पूर्ण किये जा चुके हैं उनको तत्काल सम्बन्धित विभाग को हैण्डओवर करा दिये जायें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रमेश चन्द्र पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सीमा अग्रवल, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, डीसी मनरेगा मृणाल सिंह, अधिशासी अभियन्ता विद्युत, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी नरेन्द्र यादव, जिला विद्यालय निरीक्षक संत प्रकाश, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेन्द्र स्वरूप, कार्यदायी संस्था के अधिकारी सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!