प्रेम बना मौत का कारण

फ़ैयाज़ खान (संवाददाता)

गाजीपुर । गांव के लड़के से मोबाइल पर बात करना प्रीति यादव को पड़ा महंगा। प्रीति यादव को मना करने पर भी न मानने पर क्रोधित घर वालों ने गोली मारकर हत्या करने के बाद उसकी लाश को रेवतीपुर-रामपुर गंगा किनारे फेंक दिया था।
रविवार को प्रीति हत्‍याकांड का खुलासा करते हुए जंगीपुर के एसओ जयचंद्र भारती ने बताया कि प्रीति यादव 17 वर्ष पुत्री विनय यादव निवासी कदियापुर जंगीपुर जो अपने ही गांव के किसी युवक से प्रेम हो गया था और उससे हमेशा मोबाइल पर बात करती थी। घर वालों के मना करने के बावजूद भी प्रीति नही मानी तो 4 जनवरी को चाचा, चाची, मां व बाबा ने लाइसेंसी रिवाल्‍वर से प्रीति के सिर में सटाकर गोली मारकर हत्‍या कर दिया और उसके शव को प्‍लास्टिक के बोरी में भर कर रेवतीपुर गंगा किनारे फेंक दिया।
जिसपर पांच जनवरी को रेवतीपुर पुलिस ने अज्ञात शव मिलने पर उसकी पहचान के लिए वाट्सएप ग्रुप और फेसबुक पर डाल दिया था। जिसकी पहचान जंगीपुर के कदियापुर गांव निवासी प्रीति यादव के रुप में हुई थी। जंगीपुर पुलिस मामले की छानबीन करने लगी तो मामला कुछ और निकला। पुलिस ने चाचा-चाची, बाबा व मां को गिरफ्तार कर लिया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!