नींबू का रस ही नहीं, इसका तेल और छिलका भी हैं फायदेमंद,जानें

खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए तो नींबू का उपयोग होता ही है, लेकिन यह सेहत के लिए भी उतना ही गुणकारी है। नींबू के कुछ उपयोग सभी को पता हैं जैसे एनर्जी की कमी महसूस हो रही है तो नींबू का पानी काफी है, पेट में खराबी या अपच लग रही है तो एक गिलास नींबू पानी राहत दिला सकता है। www.myUpchar.com से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्त शुक्ला के अनुसार, नींबू के रस में विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है, जो शरीर को बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करती है। यदि रोज एक गिलास नींबू पानी पिया जाए तो कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। नींबू का रस ही नहीं, इसका तेल और छिलका भी फायदेमंद है।

नींबू के रस के फायदे:
डॉ. लक्ष्मीदत्त शुक्ला बताते हैं कि नींबू का उपयोग किसी तरह से किया जा सकता है। इसमें कोलेस्ट्रॉल या संतृत्प वसा नहीं होती है और यह कैलोरी में भी कम होता है।

नींबू के रस में फ्वैलोनॉइड नामक यौगिक होता है जो विभिन्न प्रकार के कैंसर से शरीर की रक्षा करता है। इसके नियमित सेवन से कैंसर कोशिकाओं को और बढ़ने से रोका जा सकता है।

डायरिया या कब्ज जैसी समस्या में नींबू तत्काल राहत दिलाता है। जिन लोगों का हाजमा लगातार खराब रहता है, उन्हें रोज सुबह उठकर एक गिलास नींबू पानी का सेवन करना चाहिए।

नींबू लिवर को स्वस्थ रखता है। यह शरीर से जहरीले पदार्थों को बाहर निकालने में लिवर की मदद करता है। यह शरीर में पित्त बढ़ाता है, जिससे वसा और लिपिड को तोड़ने में मदद मिलती है।

जिन लोगों को हायपरटेंशन की समस्या है, वे नींबू का नियमित सेवन करें। नींबू में पौटेशियम की भरपूर मात्रा होती है जो हार्ट संबंधी विकारों को दूर रखने के लिए जरूरी है।

नींबू में पॉलीफेनॉल्स होते हैं जो मोटापे को नियंत्रित कर सकते हैं। शरीर में अतिरिक्त फैट के जमाव को रोकने के लिए पॉलीफेनॉल्स कारगर माने गए हैं।

नींबू के सेवन में बरतें ये सावधानियां:
नींबू पानी पीने के तुरंत बाद दांतों को ब्रश नहीं करना चाहिए। कुछ लोगों को इसके सेवन से एलर्जी हो सकती है। गला खराब हो सकता है। जिन लोगों को अल्सर की बीमारी है, उन्हें नींबू से दूर रहना चाहिए। अधिकांश लोग नींबू पानी में शक्कर और नमक का उपयोग करते हैं। इन दोनों का अत्यधिक उपयोग सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

नींबू के तेल और छिलके के फायदे:
डॉ. लक्ष्मीदत्त शुक्ला के अनुसार, नींबू के छिलकों में विटामिन, खनिज और फायबर होते हैं। इन छिलकों का पावडर बनाकर त्वचा पर लगाया जाए तो निखार आता है। इन छिलकों से मसाला भी बनाया जाता है। कहीं-कहीं चाय में इनका इस्तेमाल होता है।

इसी तरह नींबू का तेल एक एसेंशियल ऑयल है जो इसके छिलके के निकाला जाता है। इस तेल का उपयोग त्वचा, हेयर ग्रोथ, तनाव, बुखार, संक्रमण, अस्थमा, मोटापा, अनिद्रा, पेट की समस्याओं और थकान को दूर करने में होता है। यह अल्जाइमर की बीमारी में भी कारगर है। नींबू का तेल कई अन्य तेल के साथ इस्तेमाल किया जाता है जैसे – जैतून का तेल, नारियल के तेल।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!