बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी ने JNU के VC को हटाने की मांग की

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के वाइस चांसलर एम. जगदीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है । साथ ही उन्होंने जेएनयू के वाइस चांसलर को पद से हटाने की मांग की है ।

बीजेपी नेता जोशी ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दो बार वाइस चांसलर जगदीश कुमार से छात्रों और टीचरों से मिलकर विवाद को सुलझाने को कहा था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और अड़ियल रवैया अपनाए रखा । उन्होंने कहा कि अब जगदीश कुमार को जेएनयू वाइस चांसलर के पद से हटा देना चाहिए ।

बीजेपी के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने ट्वीट कर कहा, ‘ऐसी रिपोर्ट्स आ रही हैं कि एचआरडी मंत्रालय ने दो बार जेएनयू के वाइस चांसलर से बढ़ी हुई फीस के विवाद को सुलझाने के लिए कारगर फॉर्मूला लागू करने के लिए कहा था ।।

बीजेपी नेता जोशी ने कहा, ‘वाइस चांसलर जगदीश कुमार को छात्रों और शिक्षकों से बातचीत करने की भी सलाह दी गई थी, लेकिन यह हैरान करने वाली बात यह है कि सरकार के प्रस्ताव को लागू करने को लेकर वाइस चांसलर का रुख अड़ियल बना हुआ है । उनका यह रवैया बेहद निंदनीय है और मेरी राय है कि ऐसे वाइस चांसलर को पद पर बने रहने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए ।

मुरली मनोहर जोशी का यह बयान उस समय सामने आया है, जब जेएनयू में बढ़ी फीस और हिंसा को लेकर छात्र जोरदार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं । जेएनयू के प्रदर्शनकारी छात्र वाइस चांसलर जगदीश कुमार को हटाने की मांग पर अड़े हुए हैं । विपक्ष भी वाइस चांसलर जगदीश कुमार पर निशाना साध रहा है. हालांकि अब बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी के ट्वीट के बाद सरकार पर वाइस चांसलर जगदीश कुमार को हटाने का दबाव बढ़ गया है ।

5 जनवरी को जेएनयू में कुछ नकाबपोश लोगों ने हिंसा की थी और छात्रों के साथ मारपीट की थी । इसमें जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत कई छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए थे । सके बाद से जेएनयू के छात्र लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. गुरुवार को छात्रों ने जेएनयू कैंपस से मंडी हाउस और जंतर-मंतर तक मार्च निकाला । इसके अलावा छात्रों के हुजूम ने राष्ट्रपति भवन की ओर बढ़ने की कोशिश की. हालांकि पुलिस ने उनको रोक दिया ।

जेएनयू के छात्रों के उग्र विरोध प्रदर्शन को देखते हुए गुरुवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने जेएनयू के छात्रों के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत की । इस बैठक के बाद अमित खरे ने कहा कि जेएनयू विवाद को सुलझाने की पूरी कोशिश की जा रही है । गुरुवार को जेएनयू के 8 छात्रों का प्रतिनिधिमंडल मानव संसाधन विकास मंत्रालय पहुंचा था. इसमें जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी शामिल थीं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!