तहसील पत्रकार एशोसिएशन की वार्षिक बैठक सम्पन्न, पातीराम गंगवार फिर बने अध्यक्ष

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । बीसलपुर तहसील पत्रकार एसोसिएशन की वार्षिक बैठक का आयोजन किसान सहकारी चीनी मिल के गेस्ट हाउस में आयोजित की गई । बैठक में वार्षिक चुनाव कराए जाने का निर्णय लिया गया । चुनाव में विनोद कुमार मिश्रा, अखिल सिंह तोमर को सर्वसम्मति से संगठन का संरक्षक चुना गया। इसके अलावा संरक्षक की देख-रेख में वार्षिक चुनाव संपन्न हुआ । जिसमें पातीराम गंगवार अध्यक्ष, श्याम बहादुर शर्मा वरिष्ठ उपाध्यक्ष, अनमोल शर्मा महामंत्री, सत्यदेव मिश्रा मुख्य प्रवक्ता एवं संगठन मंत्री, शिवकुमार प्रभाकर, दीपक गुप्ता, रौनक अली अंसारी, इस्तियाक अल्वी को उपाध्यक्ष पद दिया गया।
वही दीनदयाल शास्त्री को मीडिया प्रभारी, मनोज पाठक संगठन सलाहकार, राजकमल शर्मा कोषाध्यक्ष, पंकज गुप्ता संयुक्त सचिव, रूप किशोर जोशी, मोहम्मद जैनुल, आशुतोष मिश्रा, बृजेश समाधिया को सचिव के अलावा ओमप्रकाश गंगवार, शिवा रस्तोगी, अवध सक्सेना, शिवकुमार गंगवार एवं सतीश आदि को कार्यकारणी सदस्य चुना गया ।

नव गठित कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए तहसील एशोसिएशन के अध्यक्ष पातीराम गंगवार ने कहा कि पत्रकार समाज का आईना है समाज में फैली कुरीतियों को उजागर करने के लिए पत्रकार महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।
वही कुछ संगठन तथाकथित पत्रकार पत्रकारिता की गरिमा को धूमिल करने का कार्य कर रहे हैं। यह एक चिंता का विषय है । पत्रकार भीड़ का हिस्सा नहीं है समाज व देश के निर्माण के लिए पत्रकारों को पूरी ईमानदारी व कर्तव्य निष्ठा के साथ अपनी लेखनी का इस्तेमाल करना चाहिए जो पत्रकार पूरी ईमानदारी व कर्तव्य निष्ठा के साथ कार्य कर रहे हैं । तहसील पत्रकार एशोसिएशन उनका उत्पीड़न किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा। पत्रकार का उत्पीड़न करने वाले को संगठन द्वारा मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा ।
हमारा संगठन उत्पीड़न करने वालों के लिए हमेशा हर कीमत पर जवाब देने के लिए तत्पर है साथ ही सभी पत्रकारों से अपील करता हूं कि ऐसा कोई भी कार्य ना करें जिससे समाज में पत्रकारिता की छवि को धूमिल किया जा सके ।

चुनाव के बाद आयोजित की गई बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए कि आगामी 2 फरवरी दिन रविवार को बिलसंडा के ऐतिहासिक एवं सुप्रसिद्ध मढानाथ मंदिर परिसर में एक बैठक का आयोजन किया जाना सुनिश्चित किया गया है।
फरवरी माह में ही अल्मोड़ा के जागेश्वर धाम नीम करौली कैंची धाम पर टूर जाने का भी निर्णय लिया गया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!