बेरोजगार आशार्थियों से स्वरोजगार के लिए आवेदन-पत्र आमंत्रित

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी ने जानकारी देते हुए बताया कि बाबा साहब अम्बेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजनान्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय उपलब्धता एवं दक्षता के आधार पर सतत् रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से वित्तीय समावेशन की योजना है। उन्होंने बताया कि योजना के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी जिला विकास कार्यालय एवं विकास खण्ड स्तर से प्राप्त किये जा सकते हैं तथा आवेदन पत्र भी इसी स्तर पर उपलब्ध हैं। योजना के अन्तर्गत आवेदन पत्र जमा करने की अन्तिम तिथि 10 जनवरी 2020 है तथा आवेदन पत्र विकास खण्ड स्तर पर जमा किये जायेंगे। आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 65 वर्ष होगी। अनुमन्य व्यवसाय के चयन के सम्बन्ध में जानकारी जनपद स्तर पर विकास भवन स्थित जिला विकास कार्यालय एवं विकास खण्ड स्तर पर खण्ड विकास अधिकारी से प्राप्त किया जा सकता है। भैंस पालन, बकरी,/भेड़ पालन, परचून दुकान, टेन्ट हाउस, तेल धानी (मिनी आयल मिल), आटा चक्की, मुर्गी पालन, वेल्डिंग, कृषि यन्त्र एवं खराद मशीन, ढाबा/रेस्टोरेशन, ब्युटी पार्लर, सैलून शाप, सिलाई एवं रेडीमेट कपड़े की दुकान, आटो पार्ट्स, मोबाईल रिपेयरिंग एवं बिक्री दुकान, कपड़े की थेली/बैग उद्योग, मोमबत्ती/अगरबत्ती उद्योग, दोना-पत्तल उद्योग, दाल उद्योग, मसाला उद्योग सूयर पालन, कम्प्यूटर सेन्टर आदि के अतिरिक्त भी क्षेत्र में बच्चे माल दक्षता संसाधनों की उपलब्धता एवं विपणन की सम्भावनाएँ होने पर अन्य उपयोगी गतिविधयॉ के आवेदन किये जा सकते हैं।

योजनान्तर्गत प्रोजेक्ट कास्ट न्यूनतम 2 लाख तथा अधिकतम 5 लाख है। अनुसूचित जाति/जनजाति के लिए प्रोजेक्ट कास्ट का 35 प्रतिशत अथवा 70 हजार तथा अन्य जातियों के लिए प्रोजेक्ट कास्ट का 25 प्रतिशत अथवा 50 हजार जो भी हो, अनुदान के रूप में अनुमन्य है। उक्त जानकारी सूचना विभाग के नेसार अहमद ने दी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!