वन विभाग का दरियादिल आया समाने, अवैध कब्जे पर कोई मनाही नहीं

जय प्रकाश सिंह (संवाददाता)

अनपरा । औड़ी से शक्तिनगर सड़क चौड़ीकरण को लेकर सड़क के किनारे बसे कई लोगों को उजड़ना पड़ेगा । उजड़े जाने की चिंता ने लोगों को काफी परेशान किया हुआ है । वर्षों से अपना छोटा-मोटा धंधा चलाकर परिवार का पेट पालने वाले लोगों को अब इस बात की चिंता सताने लगी है कि आखिर वे जाएं तो कहां जाय। सूत्रों की माने तो इसी समस्या को भुनाने में इन दिनों वन विभाग के कुछ कर्मचारी ओडी मोड़ से सिंगरौली जाने वाली सड़क के किनारे वनभूमि पे कब्जा कराने में लगे हुए हैं । सूत्रों के मुताबिक बसाने की जिम्मेदारी अब वन विभाग ने ले ली है ।
मजे की बात यह है कि प्रदेश ही नहीं पूरे देश को हिला देने वाली उभ्भा की घटना के बाद भी वन विभाग अभी भी सीरियस नहीं है। वन विभाग के अधिकारी का कहना हैं कि विवाद के लिए वे जिम्मेदार नहीं हैं मगर वन विभाग की जमीन और यदि कब्जा हो रहा है तो खाली कराया जाएगा । लेकिन बड़ा सवाल यह है कि यह कार्यवाही कब तक होगी इस पे अधिकारी बोलने को तैयार नहीं।

अब देखने वाली बात है कि उभ्भा की घटना के बाद जनपद सोनभद्र को सीधे मुख्यमंत्री निगरानी कर रहे हैं, ऐसे में एक बार फिर उभ्भा की तर्ज पर तैयार हो रही जमीन के लिए जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों पर कड़ी कार्यवाही की जरूरत है । ताकि इस तरह की पुनरावृत्ति न हो सके ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!