रिटायर हुए सेना प्रमुख बिपिन रावत, संभालेंगे CDS का कार्यभार

बिपिन रावत आज सेना प्रमुख के पद से रिटायर हो गए हैं । नए साल के पहले दिन वह अब चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में पदभार संभालेंगे । मंगलवार को रिटायर होने से पहले उन्होंने वॉर मेमोरियल पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी और मीडिया से भी बात की। बिपिन रावत बोले कि उन्हें नहीं पता था कि वह चीफ ऑफ आर्मी डिफेंस बनाए जाएंगे, लेकिन अब वह इसके लिए रणनीति तैयार करेंगे ।

मीडिया से मुखातिब होते हुए बिपिन रावत बोले, ‘चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ की जिम्मेदारी काफी बड़ी होती है, ऐसे में मेरा ध्यान सिर्फ इसी पर था । मुझे अगर कोई नया ओहदा दिया गया है, तो मैं उसपर काम करूंगा । लेकिन अगर मुझे कहा जाएगा कि मैं COAS देखते हुए CDS की कार्रवाई करेंगे, तो ऐसा नहीं हुआ था कि मैं अभी तक इसी पर ध्यान दे रहा था।

सेना प्रमुख के तौर पर सबसे बड़ी उपलब्धि क्या रही? इस सवाल पर बिपिन रावत ने कहा कि हमारे से पहले वाले चीफ ने भी काफी कुछ अचीव किया है, मेरा ध्यान आर्मी का स्ट्रक्चर, आधुनिकिकरण को करना था । अब किस तरह हम सफल हो पाए हैं, उसे आप ही बता सकते हैं। मैं आने वाले सेना प्रमुख को यही कहूंगा कि बस आगे बढ़ते जाएं ।

जब बिपिन रावत से पूछा गया कि क्या भारत पाकिस्तान और चीन की चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, तो उसपर बिपिन रावत बोले कि हां, हम पूरी तरह से तैयार हैं ।

बुधवार को संभालेंगे CDS का कार्यभार

बुधवार को बिपिन रावत देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के तौर पर नियुक्त होंगे । बता दें कि एक लंबी मांग के बाद भारत सरकार की ओर से CDS के पद को मंजूरी दी गई है । चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की जिम्मेदारी तीनों सेनाओं से जुड़े मामलों में रक्षामंत्री को सलाह देना होगा ।

गौरतलब है कि CDS ही रक्षामंत्री का प्रधान सैन्य सलाहकार होगा ।हालांकि, सैन्य सेवाओं से जुड़े विशेष मामलों में तीनों सेनाओं के चीफ पहले की तरह रक्षामंत्री को सलाह देते रहेंगे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!