विंध्यधाम में विदेशी मेहमान भक्तों को अपनी तरफ कर रहे हैं आकर्षित

मिर्जापुर। सात समुंद्र पार से मीरजापुर में आये विदेशी मेहमान साइबेरियन पंछी माता विंध्यवासिनी के धाम में आने वाले भक्तों के लिए आकर्षण का केन्द्र बने हैं। “अतिथि देवों भव” की भावना के साथ स्थानीय नागरिकों के अलावा दर्शनार्थी उन्हें दाना खिलाकर अपने आप को धन्य मान रहे हैं। अलौकिक नजारा देखने के बाद वह मुदित है। एक रिपोर्ट

ठण्ड के आगमन के साथ ही साइबेरिया की धरती को छोड़कर आने वाले विदेशी मेहमान साइबेरियन पंछियों का बेसब्री से इंतजार स्थानीय लोगों को रहता है। विंध्याचल धाम से होकर वाराणसी की ओर बहने वाली गंगा नदी के जल पर इठलाते, इतराती और कलरव करते मन को मोहित करते हैं। आवाज देने पर नजदीक आने वाले साइबेरियन पक्षी लोगों को अपनी ओर बरबस आकर्षित करते हैं । आवाज देने पर नजदीक आने वाले पंछियों को दर्शनार्थी चारा खिलाते हैं। नाव पर सवार लोग जलधारा पर उनके कलरव को देख मग्न हो जाते हैं ।

सात समुद्र पार से आने वाले साइबेरियन पंछी दिसंबर के महीने में आते हैं तो फरवरी तक वह यहां से फिर अपने स्थान के लिए रवाना हो जाते हैं । विदेशी पक्षियों के बीच सफर करते हुए लोगों को उनसे मिलाने वाले नाविक भी उनका बेसब्री से इंतजार करते हैं । इन पंछियों के आने के साथ ही उनकी आमदनी बढ़ जाती है । वह अपनी आमदनी का एक हिस्सा उन्हें चारा खिलाने के लिए भी प्रयोग करते हैं । आखिर घर आए मेहमान को भूखा कैसे रखा जा सकता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!