इस वर्ष के अन्तिम सूर्य ग्रहण पर विशेष

डॉ शशि कुमार पाठक, पीएचडी (विद्यावारिधि 9473616488)

26 दिसम्बर को होने वाला सूर्य ग्रहण इस वर्ष का अन्तिम सूर्य ग्रहण होगा। इस सूर्यग्रण से होने वाले दोषो का विद्वानों द्वारा निवारण बताया जा रहा है। भारतीय समय के अनुसार 8.00 बजे से प्रारम्भ होगा मध्य 10.48 पर होगा तथा मोक्ष 12.36 पर होगा। सूर्य ग्रहण का सूतक स्पर्श होने से 12 घंटा पूर्व दोष माना जाता है। स्पर्श के समय स्नान तथा पुनः मोक्ष होने पर स्नान करना चाहिए। सूतक लग जाने पर मंदिर में प्रवेश करना, मूर्ति का स्पर्श करना, भोजन करना, मैथुन क्रिया, यात्रा इत्यादि वर्जित है। बालक,, वृद्ध ,रोगी, अत्यावश्यक में पथ्य अपथ्य आहार ले सकते हैं। भोजन सामग्री जैसे दूध, दही, घी, इत्यादि में कुश या तुलसी दल रख देना चाहिए।ग्रहण मोक्ष के बाद पीने का पानी ताजा ले लेना चाहिए। ग्रहण के समय श्राद्ध, दान, तप, जप, मंत्र, सिद्धि आदि का शास्त्रोक्त विधान है। इस समय किया गया तंत्र मंत्र फलित होता है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!