खुद को आग लगाने वाली रेप पीड़िता की इलाज के दौरान मौत

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप के आरोपी को जमानत मिलने से हताश होकर खुद को आग लगाने वाली रेप पीड़िता की मौत हो गई है । रेप पीड़िता ने कानपुर के अस्पताल में अंतिम सांस ली । वह हसनगंज कोतवाली क्षेत्र की निवासी थी ।
बताया जाता है कि पीड़िता ने तीन महीने तक कोतवाली का चक्कर लगाने के बावजूद रेप के आरोपी की गिरफ्तारी न होने के बाद पुलिस अधीक्षक ऑफिस के सामने खुद को आग लगा ली थी । आग का गोला बनी युवती कार्यालय में पहुंची तो वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने तत्परता दिखाते हुए उसके जलते कपड़े फाड़ उसे कंबल में लपेट उपचार के लिए तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया था ।
जिला अस्पताल के चिकितस्कों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद कानपुर रेफर कर दिया था । पीड़िता का कानपुर के अस्पताल में इलाज चल रहा था, लेकिन उसको बचाया नहीं जा सका । वह 85 फीसदी जल चुकी थी । इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था । घटना 16 दिसंबर की है ।
बता दें कि उन्नाव जिले में ही एक रेप पीड़िता को जिंदा जला देने का मामला भी सामने आया था। 90 फीसदी जल चुकी पीड़िता ने दिल्ली में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था । पुलिस ने उस मामले में पीड़िता को जलाए जाने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!