खाता न खुल पाने के कारण नाराज समूह सखियों ने किया, स्टेट बैंक का घेराव

ख्वाजा खान (संवाददाता)

-धारा 144 लागू होने के बावजूद हुआ प्रर्दशन


बभनी। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के सामुहिक खाता न खुल पाने के कारण नाराज समूह सखियों ने भारतीय स्टेट बैंक बभनी का घेराव किया समूह सखियों ने बताया कि हमारा एक वर्ष से स्टेट बैंक में कोई खाता नहीं खुल रहा है ।जिसकी वजह से हम समूह सखियों का सारा विकास व कार्य रुका हुआ है,और उन्होंने यह भी बताया कि जब इलाहाबाद ग्रामीण बैंक से आर्यावर्त ग्रामीण बैंक में चेंज हो गया था तो ग्रामीण बैंक में भी खाता नहीं खुल रहा था जब हम लोगों कुछ महीनों पहले प्रर्दशन किया तब से वहां बैंक में हमारा काम शुरु कर दिया गया ।लेकिन चार महीनों से हमें आज कल का बहाना बनाकर स्टेट बैंक द्वारा भेंज दिया जाता है। इस बात की जानकारी देते हुए राष्ट्रीय आजीविका मिशन के खंड मिशन प्रबंधक मनीष शर्मा ने बताया कि समूह सखियों का खाता एक वर्ष से नहीं खोला जा रहा है जो स्टेट बैंक के तहत 10 गांवों में कुल 107 समूह बनाए गए हैं जिसमें स्टेट बैंक के द्वारा 68 में से 5 खाते खोले गए हैं जिसके लिए आर्यावर्त बैंक में भी खाते खुलवाने का प्रयास किया गया लेकिन वहां पहले से ही खाता खुले होने के कारण नहीं खुल सका बाकी समूहों का खाता न खुल पाने के कारण कई समूह टूटने के कगार पर हो गए हैं जिससे हमारे राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा लिए जा रहे सुविधाओं से समूह सखियां वंचित रह जा रही हैं और कई समूह बिखर भी गए जिससे ग्रामीण रोजगार के तहत हम कोई फंड नहीं दे पा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि हम गांवों में छोटी सुविधाओं को देकर एक नया रोजगार देते हैं। जब इस संबंध में भारतीय स्टेट बैंक के प्रबंधक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि खाता न खुल पाने का मेन कारण हमारे यहां एयरटेल वोडाफोन का नेटवर्क काफी डिस्टर्ब चल रहा है जिससे हम खाता नहीं खुलवा पा रहे हैं। बाकी खाते खुल जा रहे हैं लेकिन समूह के खाते नहीं खुल पा रहे हैं हमारे बैंक में हम केवल दो स्टाफ हैं जिससे काम करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ।यदि समूह सखियां चाहें तो मैं समय निकाल कर रविवार के दिन दूसरे ब्रांच में जाकर जितने खाते नहीं खुल पाए हैं उन्हें खुलवाने में मदद कर सकता हूं। जिससे समूह सखियों का कार्य सुचारू रूप से संचालित हो सकेगा और उनका रुका हुआ हर कार्य कामयाबी से चलने लगेगा।

धारा 144 लागू होने के बाद शासन के द्वारा शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर आदेश जारी किया गया है इसके बाद भी भारतीय स्टेट बैंक पर प्रर्दशन किया गया जिसके बावजूद भी बभनी पुलिस इस मामले को नजर अंदाज करती रही। नज़र अंदाज़ करने के पीछे पुलिस की सोच क्या थी यह पुलिस ही जाने। प्रर्दशन के दौरान मंजू देवी शांति देव कुवंर सोनकुवंर मांतीदेवी सोनामती फूलपती ललिता केवली देवी ऊर्मिला देवी फूलकुवंर देवमती मानकुंवर रामकुंवर रामकली सुखमनियां राजमती किस्मतिया अनीता अंजूदेवी समेत सैकड़ों समूह सखियां मौजूद रहीं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!