दुष्कर्म के आरोपी को 14 वर्ष का कारावास व 35 हजार रुपए के अर्थदंड की सजा

दीनदयाल शास्त्री/राजेश गुप्ता (संवाददाता)

पुलिस महानिदेशक के आदेश के अनुपालन में गठित जनपदीय मॉनिटरिंग सेल की प्रभावी पैरवी के बाद थाना जहानाबाद के दुष्कर्म के एक अभियोग में अभियुक्त को 14 वर्ष का कारावास व 35,000 हजार रुपए के अर्थदंड की सजा ।

7 नवम्बर 2016 को थाना जहानाबाद में मुकदमा अपराध संख्या 1441/2016 धारा 452, 376 आईपीसी व 3/4 पॉक्सो एक्ट बनाम हरवंश पुत्र बुद्धसेन गंगवार निवासी कनाकोर पंजीकृत किया गया था । घटनाक्रम के अनुसार अभियुक्त द्वारा वादनी के घर में घुसकर वादिनी की 14 वर्षीय पुत्री के साथ दुष्कर्म करने के आरोप लिखा गया । जिसकी गहन विवेचना के दौरान संकलित साक्ष्य एवं सबूत के साथ अभियुक्त का चालान कर आरोप पत्र संख्या 410/2016 दिनांक 15 जनवरी 2017 को अंतर्गत धारा 452, 376 आईपीसी व 3/4 पोक्सो एक्ट प्रेषित किया गया।
अपर सत्र न्यायधीश के कोर्ट में विशेष सत्र परीक्षण संख्या 27/17 पर विचारण की कार्यवाही संपन्न हुई और विचारण के दौरान पुलिस द्वारा न्यायालय में उपलब्ध कराए गए साक्ष्य एवं सबूत के आधार पर न्यायालय द्वारा 17 दिसम्बर 2019 को दोष सिद्ध मानते हुए अभियुक्त हरवंश पुत्र बुद्धसेन गंगवार निवासी कनाकोर थाना जहानाबाद को 14 वर्ष का कारावास व 35,000 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया गया है ।

पॉक्सो एक्ट के अंतर्गत घटित दुष्कर्म व हत्या से संबंधित थाना बीसलपुर एवं जहानाबाद के कुल 2 मुकदमों को चिन्हित कर प्राथमिकता पर लिया गया। दोनों मुकदमों में प्रभावी पैरवी करते हुए दोनों मुकदमों में सजा दिलाई गई।
थाना बीसलपुर पर पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 607/2016 धारा 452 354 302 ipc व 7/8 पॉक्सो एक्ट में 26 अक्टूबर 19 को अभियुक्त को आजीवन कारावास व 30000 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया गया ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!