पुलिस अधीक्षक ने नागरिकों से की अपील, अपवाहों पर न दें ध्यान

राजेश गुप्ता (संवाददाता)

पीलीभीत । पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित आज एक पत्रकार वार्ता में कई घटनाओं का खुलासा करते हुए मीडिया समेत नागरिकों से अपील की । पुलिस अधीक्षक ने घटना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शनिवार को फर्रुखाबाद निवासी रमेश चंद्र ने एक शिकायत की थी उनकी लड़की डॉली को जान से मारने का प्रयास किया गया है और वे इस समय सैफई अस्पताल में भर्ती है । रमेश चंद के द्वारा की गई शिकायत के आधार पर ही सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया था । हालांकि अगले दिन एक और सूचना प्राप्त हुई कि डॉली की मृत्यु सैफई अस्पताल में हो गई है । जिसकी विवेचना जारी है। उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गयी है और ना ही कोई शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने बताया कि डोली का इलाज 2 घंटे तक जिला अस्पताल में किया गया था । बाद में उसके परिजन इलाज के लिए उसको बरेली अस्पताल ले गए तथा बरेली से ही सैफई अस्पताल रेफर किया गया । यह घटना 25 नवंबर की बताई जा रही है।

वहीं एक अन्य मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित ने बताया कि आज प्रातः कोतवाली क्षेत्र से सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ माह का भ्रूण कोतवाली पुलिस को मिला है। भ्रूण का पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया गया है । पोस्टमार्टम के दौरान ही बताया गया है कि भ्रूण 5 माह का है जिसको कोई महिला कब्रिस्तान के पास कोतवाली क्षेत्र में छोड़ गई है । पुलिस द्वारा कार्रवाई जा रही है जैसे ही कोई सूचना मिलेगी मीडिया को आगे बताया जाएगा।

इसके बाद पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित ने नागरिकता संशोधन के खिलाफ किये जा रहे दुष्प्रचार को लेकर कहा कि कई जगह सोशल मीडिया पर कुछ असामाजिक तत्व द्वारा अनैतिक मुद्दे को लेकर भ्रांति फैलाने की कोशिश की जा ही है । उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया सेल द्वारा कड़ी निगरानी रखी जा रही है। अतः अफवाहों पर ध्यान ना दें एवं अपने समाज संस्कृति और राष्ट्र के सर्वांगीण हितों को ध्यान में रखते हुए एक जिम्मेदार नागरिक के कर्तव्य का पालन करें।यदि कोई व्यक्ति सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने की कोशिश करता है तो उसके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!