क्रय केंद्रों पर ट्राली में रखा किसानों का धान भींगने से किसानों में मायूसी

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । क्रय केंद्र पर धान बेचने आने वाले किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए शासन के सख्त निर्देश हैं, लेकिन इसके बाद भी विभागीय अधिकारी इसके प्रति गंभीर नहीं है। राजगढ़ क्षेत्र में धान क्रय केंद्र पर छाया के प्रबंध न होने के कारण ही गुरुवार की रात से शुक्रवार सुबह हुई बारिश से कई किसानों का खुले में रखा धान भीग गया।
धान क्रय केंद्रों पर व्यवस्था चाक चौबंद होने के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन राजगढ़ क्षेत्र के पटेल नगर बाजार में खुले धान क्रय केंद्र पर आने वाले किसानों को प्रतिदिन नई समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। राजगढ़ में करीब आधे से अधिक व्यापारियों का कब्जा है। शेष जगह में किसानों का धान खरीद के लिए रखा गया है । किसानाे ने बताया कि धान खरीद में रफ्तार नहीं आ रही है। जबकि धान बिक्री के लिए किसान चक्कर काट रहे हैं। वहीं करीब दो दर्जन से अधिक किसानों का धान बिक्री के लिए खुले में जमा है। जिसके चलते हुई बारिश से खुले में रखा कई किसानों का धान भींग गया। हालांकि आस पास के गांव के किसानों ने मौके पर पहुंच तुरंत तिरपाल आदि डालकर धान को भींगने से बचाया। एक दर्जन किसानों ने बताया कि एक सप्ताह से धान क्रय केंद्र के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन तौल का नंबर नहीं लगा है। बारिश में धान भीगने के बाद अब नुकसान उठाना पड़ेगा। इस संबंध में जब राजगढ़ विपणन निरीक्षक वीरेंद्र यादव से वार्ता की गई यह तो बताया कि प्रतिदिन 300-400 कुंतल धान की खरीदारी की जा रही है। लेकिन क्रय केंद्र की दुर्व्यवस्थाओं का जवाब नहीं दे सके।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!