हाकिम ने देख लिया स्कूल तो खेल से उठ गया पर्दा, कार्यवाही के आदेश

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

★ जिलाधिकारी की जांच में खुली पोल

★ जिला मुख्यालय से सटे स्कूल को देखकर डीएम भी सन्न

★ बड़ा सवाल- आखिर वर्षों से कैसे चल रही थी अंदरखाने का खेल

★ क्या जिले के अधिकारी की जानकारी ने चल रहा था यह खेल

★ यह कोई अकेला स्कूल नहीं, जिले में चल रही ऐसी कई स्कूलों की व्यवस्था

★मिड डे में भी चूल्हे पर बनता मिला खाना, हर बार पकड़े जाने पर एक जैसा मिलता है जबाब

★ बड़ा सवाल आखिर क्यों बेलगाम होती जा रही स्कूल की व्यवस्था

★ बेसिक शिक्षा मंत्री का प्रभारी जनपद के बाद भी अध्यापकों में क्यों नहीं है कोई डर

★ डीएम की कार्यवाही से शिक्षा विभाग में मचा हड़कम्प

★ लेकिन बड़ा सवाल, क्या कार्यवाही के बाद भी सुधरेंगे शिक्षा विभाग के अध्यापक

सोनभद्र । एक लीटर दूध में पानी मिलाकर 81 बच्चों को पिलाने की खबर के बाद जहां जिला प्रशासन की किरकिरी हुई वहीं योगी सरकार के व्यवस्था पर भी सवाल उठने लगे हैं । मिड डे मील में लगातार मिल रही शिकायत के बाद आज जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने प्राथमिक विद्यालय सहिजनखुर्द का आकस्मिक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी का यह कोई पहला निरीक्षण नहीं है लेकिन आज जिलाधिकारी ने जैसे ही बारीकी से निरीक्षण करना शुरू किया । स्कूल के व्यवस्था की पोल खुलनी शुरू हो गयी । थोड़ी ही देर में जिलाधिकारी को सब कुछ समझ में आने लगा और फिर उन्होंने नामांकन की स्थिति को जाना। जिलाधिकारी ने बारी-बारी से स्कूली बच्चों से मध्यान्ह भोजन, निःशुल्क बैग, निःशुल्क मोजा-जूता, किताब की उपलब्धता के बारे में जानकारी की और सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान सहायक अध्यापिका ज्योति पाण्डेय, शिक्षामित्र मालती सिंह व सुनीता सिंह को उपस्थित पाया। जब जिलाधिकारी ने अभिलेखों का निरीक्षण करना शुरू किया तो, जानकारी हुई कि अशोक कुमार सिंह की तैनाती प्राथमिक विद्यालय सहिजनखुर्द में है, हाजिरी रजिस्टर में अशोक कुमार सिंह का नाम दर्ज नहीं है और ना ही अशोक कुमार सिंह कभी पढ़ाने ही आते हैं, उन्हें अन्यत्र कहीं कार्य करने की अपुष्ट जानकारी दी गयी। कुल मिलाकर अशोक सिंह अपने मूल तैनाती पर गैर हाजिर पाये गये साथ ही रजिस्टर में दर्ज सहायक अध्यापिका पूजा निरंजन को गैर हाजिर पाया गया और तहकीकात करने पर जानकारी हुई कि स्कूल बिना आये ही पूजा निरंजन को वेतन बड़े ही आसानी से मिल जाता है। स्कूलीजनों द्वारा जानकारी करने पर, ड्यूटी न करने की जानकारी मिली। मौके पर मौजूद सहायक अध्यापिका ज्योति पाण्डेय द्वारा बड़े ही सहमे हुए अंदाज में बताया गया कि गैरहाजिर रहने वाली पूजा निरंजन अपना आवेदन-पत्र बिना तारीख के रखवाती हैं और मुझे कहा जाता है कि कोई जॉच करने आये तो, वर्तमान की तारीख डालकर छुट्टी का अवकाश/प्रार्थना-पत्र पेश कर दिया जाय। जिलाधिकारी ने जिला मुख्यालय के निकट के स्कूल पर इस तरह की स्थिति पाये जाने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल को प्राथमिक विद्यालय सहिजनखुर्द परिसर में तलब किया और अनुपस्थित रहने वाले अशोक कुमार सिंह के खिलाफ विभागीय कार्यवाही व कूट रचना करके उपस्थिति बनाकर वेतन लेने वाली पूजा निरंजन को तत्काल निलम्बित करते हुए विभागीय कार्यवाही प्रचलित करने के निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान रसोइयाँ शिवकुमार, गीत व कौशल्या को उपस्थित पाया, मगर एलपीजी गैस के बजाय भोजन लकड़ी पर बनते पाया। रसोइया द्वारा बताया गया कि गैस सिलेण्डर प्रधान भरवाने ले गये है। जिलाधिकारी ने परिसर के साफ-सफाई का निरीक्षण करके जहॉ संतोष व्यक्त किया, वहीं शौचालय में पानी की व्यवस्था न होने और हैण्डपम्प की खराब स्थिति पाये जाने पर ग्राम प्रधान को तलब करते हुए शौचालय में पानी की व्यवस्था व हैण्डपम्प को दुरूस्त कराने के निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने उपस्थित अध्यापक व शिक्षामित्रों व उपस्थिति बच्चों की फोटोग्राफी खुद की और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का परीक्षण बच्चों से बातचीत करते हुए की। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम के अलावा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल, मीडिया के नेसार अहमद सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!