बास्केटबॉल खिलाड़ी आयुष कर सकता है जनपद का नाम

विनोद धर (खेल संवाददाता)

सोनभद्र | बास्केटबाल के नाम पर सोनभद्र अभी हासिये पर है। तियरा स्टेडियम में बास्केटबाल का सेन्थेटिक कोर्ट के बावजुद अभी कोई ऐसा जाना पहचाना चेहरा सामने नही आया है जिसे लोग प्रेरणास्रोत मानते हुए अपना बास्केटबॉल गेम अपना सके। वैसे तो तियरा स्टेडियम तीरन्दाजी के लिए ही जाना जाता है। इसी क्रम में आयुष कुमार एक उभरता हुआ बास्केटबाल का खिलाड़ी अपनी पहचान के लिए जद्दोजेहद कर रहा है। राबर्टसगंज के पुसौली ग्राम का मूल रुप से रहने वाले पिता रामाशंकर जो एनटीपीसी के कर्मचारी है, के दुसरे पुत्र 18 वर्षीय आयुष बचपन से ही खेल के प्रति झुकाव रहा है जिसका मां बाप ने हमेशा ही समर्थन करते आये हैं। केन्द्रीय विद्यालय संगठन शक्तिनगर का छात्र अब तक एक बास्केटबॉल स्कूल स्टेट, एक ओपन सब जुनियर बास्केटबॉल टुर्नामेंट तथा दो बास्केटबॉल नेशनल स्कूल खेला, जिसमें 2016 में गोल्ड जीतकर विद्यालय वे जिले का नाम ऊंचा किया। आयुष ने बताया कि बास्केटबॉल गेम मैने अपने बडे़ भाई अश्वनी को देखकर सिखा, वे भी 2012 के नेशनल प्लेयर रह चुके है। केन्द्रीय विद्यालय से 12वीं पास कर चुके आयुष स्नातक की पढाई अपने गांव पुसौली से रहकर कर रहें है। अभी विशिष्ट स्पोर्ट्स स्टेडियम में हुए प्रथम जिला स्तरीय बास्केटबॉल प्रतियोगिता में उनका अच्छा प्रदर्शन रहा। उनकी कोच प्रीति मिश्रा ने बताया कि अगर शुटिंग, ड्रिवलिंग की प्रैक्टिस बराबर करता रहे तो यह एक अच्छे मुकाम पर पहुंच सकता है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!