उन्नाव में गैंगरेप मामला : सरकार की बड़ी कार्यवाही, थाना प्रभारी समेत 7 सस्पेंड

उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जला देने के मामले में घिरी यूपी सरकार ने अब पुलिस अधिकारियों पर कड़ा ऐक्शन लिया है। उन्नाव के एसपी विक्रांत वीर ने केस में लापरवाही बरतने के आरोप में बिहार थाना प्रभारी अजय त्रिपाठी समेत दो दारोगाओं को सस्पेंड किया है। इसके अलावा 4 सिपाहियों को भी निलंबित किया है।
एसपी ने सर्विलांस व स्वात टीम प्रभारी विकास पांडेय को बिहार थाने की कमान सौंपी है। वहीं अनावरण एवं विवेचना शाखा में तैनात निरीक्षक राजेंद्र सिंह को सर्विलांस व स्वात टीम का प्रभारी बनाया है। हल्का इंचार्ज अरविंद सिंह रघुवंशी, एसआई श्रीराम तिवारी, बीट आरक्षी पंकज यादव, मनोज और संदीप कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है ।

इससे पहले रविवार दोपहर को पीड़िता के शव को गांव में ही दफना दिया गया। शुक्रवार को देर रात पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। गुरुवार सुबह गैंगरेप के आरोपियों ने उसे जिंदा जलाने की कोशिश की थी। इन आरोपियों को अदालत ने कुछ दिनों पहले ही जमानत पर छोड़ा था। इस घटना को लेकर योगी सरकार पर विपक्ष लगातार हमलावर है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!