उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का शव दिल्ली से उन्नाव पहुंचा

उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का शव दिल्ली से उन्नाव पहुंच गया है । पीड़िता का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार देर रात निधन हो गया था ।
पुलिस और प्रशासन ने रात में ही अंतिम संस्कार करने की बात कही। इस पर पीड़ित के पिता ने साफ कहा कि उनकी एक बेटी पुणे से आ रही है। इसके बाद ही अंतिम संस्कार करेंगे, चाहे प्रशासन नाराज क्यों न हो जाए। आसपास के गांवों के लोग भी श्रद्धांजलि देने पीड़ित के घरपहुंचे। यहां बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं। वहीं, आरोपियों के घरों में सन्नाटा है। यहां केवल महिलाएं ही नजर आईं। उनकी मांग है कि इस मामले की सीबीआई जांच कराई जाए।

गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लोगों में इस घटना को लेकर जबरदस्त आक्रोश है । उन्नाव और लखनऊ से लेकर दिल्ली तक लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं । शनिवार को सपा और कांग्रेस ने लखनऊ में इसे लेकर प्रदर्शन किया । पूर्व मुख्यमंत्रियों अखिलेश यादव और मायावती ने राज्य सरकार को इसका जिम्मेदार ठहराया । वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने उन्नाव पहुंची थीं ।

यह था पूरा मामला

गैंगरेप पीड़ित लड़की को उसी के गांव के आरोपी शिवम ने शादी का झांसा देकर अपने जाल में फंसाया। दुष्कर्म के वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया। परेशान होकर लड़की अपनी बुआ के घर रायबरेली चली गई। शिवम ने यहां भी 12 दिसंबर 2018 को अपने साथी शुभम के साथ रेप किया। रायबरेली कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने 5 मार्च, 2019 को केस दर्ज किया। बाद में शिवम ने कोर्ट में सरेंडर किया। जबकि शुभम फरार रहा। 30 नवंबर को शिवम जमानत पर रिहा होकर आया। 5 दिसंबर को रायबरेली कोर्ट में सुनवाई के लिए जा रही पीड़ित को जला दिया गया। पुलिस ने शिवम, उसके पिता रामकिशोर, शुभम, हरिशंकर और उमेश बाजपेयी को गिरफ्तार किया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!