सपाइयों ने की उन्नाव रेप पीड़िता के आरोपियों को फाँसी देने की माँग

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । बीती रात उन्नाव रेप पीड़िता की मौत पर पूरे सूबे में सियासत गरमा गयी। जहाँ एक ओर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर उन्नाव पहुँच पीड़ित परिजनों से मुलाकात की वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा भवन के सामने धरने पर बैठ गए और नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री व डीजीपी के इस्तीफे की माँग करने लगे। वहीं सोनभद्र में आज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूर्व जिला सचिव प्रमोद यादव के नेतृत्व में सैकड़ों की सँख्या में रॉबर्ट्सगंज के बढ़ौली चौक पर प्रदेश में गिरती का लेकर प्रदर्शन कर उन्नाव रेप पीड़िता के दोषियों को फाँसी देने की माँग की।

इस दौरान पूर्व जिला सचिव प्रमोद यादव ने कहा कि “प्रदेश में अपराध अपने चरम पर है। भाजपा सरकार में लगातार हत्या, लूट व बलात्कार की घटनाएँ हो रही हैं। भाजपा सरकार ने नारा दिया था “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ ” लेकिन मौजूदा सरकार में तो बेटियों की अस्मत लूटी जा रही है और सरकार रेप के दोषियों चिन्मयानंद जैसे अपराधियों को बचाने में लगी है। अकेले उन्नाव की बात करें तो पिछले 11 माह में 86 रेप की घटनाएँ हो चुकी हैं जबकि सूबे की योगी सरकार अपराध मुक्त प्रदेश के दावा करती है।”

सपा जिलाध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि “प्रदेश में दर्जन भर से अधिक गंभीर आपराधिक घटनाएं हो चुकी हैं , मगर कहीं पर भी कानून का राज नहीं दिख रहा है। सूबे में लगातार महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएँ हो रही हैं, अपराधिक तत्व खुले आम पुलिस के लिए चुनौती बनकर घूम रहे हैं । मगर कार्यवाही की बजाए सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है।”

सपाइयों ने एकस्वर में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देने की माँग की। इस दौरान मुख्य रूप से पूर्व महासचिव सईद कुरैशी, हिदायत उल्ला खान, नीतीश पांडेय, मन्नू पांडेय, सुरेश अग्रहरी, मनीष त्रिपाठी, मुन्ना कुशवाहा, जुनैद अंसारी, अभिषेक पांडेय, जीतू सोनी, सूरज मिश्रा, हिफाजत अली, दीपक केशरी समेत अन्य सपाई कार्यकर्ता शामिल रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!