भारत Vs वेस्टइंडीज : भारत ने वेस्टइंडीज को 6 विकेट से हराया

हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनैशनल स्टेडियम में जोरदार मैच देखने को मिला। चौके-छक्के की बौछार के बीच भारतीय टीम ने टी-20 सीरीज के पहले मुकाबले में 208 रनों के विशाल लक्ष्य को पूरा करते हुए एक बार फिर साबित किया कि उसे हरा पाना आसान नहीं है। मेहमान वेस्ट इंडीज ने पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट पर 207 रन बनाए थे। जवाब में टीम इंडिया ने कप्तान विराट कोहली (94) और ओपनर केएल राहुल (62) की तूफानी बैटिंग की बदौलत बड़ा स्कोर बौना साबित कर दिया।
भारत ने 8 गेंद शेष रहते 4 विकेट पर 209 रन बनाते हुए मुकाबला जीता लिया। कप्तान ने विजयी सिक्स लगाया। राहुल ने 40 गेंदों में 5 चौके और 4 छक्के लगाए, जबकि कोहली ने 50 गेंदों में 6 चौके और 6 छक्के जड़े। यह विराट का टी-20 इंटरनैशनल में बेस्ट स्कोर रहा। इस तरह भारतीय टीम ने 3 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है।

भारत ने इस तरह से सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल किया। इससे पहले उसने श्रीलंका के खिलाफ 2009 में मोहाली में 207 रन का लक्ष्य हासिल किया था। इस मैच में कुल 27 छक्के लगे, जो भारतीय सरजमीं पर नया रेकॉर्ड है।

बड़े लक्ष्य के सामने भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा केवल आठ रन बनाकर पविलियन लौट गए। राहुल ने शुरू से ही रन बनाने का बीड़ा उठाया। उन्होंने होल्डर के एक ओवर में तीन चौके लगाये और फिर शेल्डन कोटरेल और खारी पियरे पर छक्के जड़े। पावरप्ले समाप्त होने के बाद भारत का स्कोर एक विकेट पर 50 रन था। कोहली ने हमेशा की तरह मौके की नजाकत को परखा और पारी संवारने का जिम्मा अच्छी तरह से निभाया। जब रन और गेंदों के बीच अंतर बढ़ने लगा तो कोहली ने तीखे तेवर अपनाए।

उन्होंने 12वें ओवर में होल्डर पर छक्का जड़ा, जिससे टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचा। अपनी पारी के दौरान टी20 अंतरराष्ट्रीय में 1000 रन पूरे करने वाले राहुल ने 37 गेंदों पर अपना 7वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने पियरे पर छक्का जमाया, लेकिन इसी ओवर में लांग आफ पर आसान कैच दे बैठे। ऋषभ पंत (नौ गेंद पर 18) ने पियरे पर छक्के से शुरुआत की जबकि कोहली ने होल्डर को निशाने पर रखा। इस तेज गेंदबाज पर उन्होंने लॉन्ग ऑफ पर दर्शनीय छक्का लगाकर अपना 23वां अर्धशतक पूरा किया, जो कि इस प्रारूप में नया रेकार्ड है।

कोहली और पंत ने केसरिक विलियम्स पर छक्के लगाए, जिससे अंतिम चार ओवरों में लक्ष्य 31 रन रह गया। कोटरेल ने ऐसे में किफायती ओवर किया और पंत को भी पविलियन भेजा और श्रेयस अय्यर (चार) भी नहीं टिक पाए, लेकिन इससे जीत का अंतर ही प्रभावित हुआ। कोहली ने पोलार्ड की गेंद छह रन के लिए भेजी और फिर विलियम्स पर दो छक्के लगाकर टीम को जीत दिलाई।

इससे पहले वेस्ट इंडीज ने शिमरॉन हेटमेयर सहित बल्लेबाजों के धमाकेदार प्रदर्शन की मदद से भारत के खिलाफ 5 विकेट पर 207 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। वेस्ट इंडीज के बल्लेबाजों ने सपाट पिच पर शुरू से आक्रामक तेवर अपनाए रखे। इविन लुईस ने 17 गेंदों पर 40 रन की तूफानी पारी खेली। ब्रेंडन किंग ने 31 रन का योगदान दिया, जबकि हेटमेयर (56 रन) और कप्तान कायरन पोलार्ड (37 रन) भी पूरे रंग में दिखे। कैरेबियाई बल्लेबाजों को जीवनदान भी मिले जिसका उन्होंने पूरा फायदा उठाया।

लक्ष्य का पीछा करने में भारत के अच्छे रेकॉर्ड और बाद में गेंदबाजी करते हुए ओस के प्रभाव को ध्यान में रखकर विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया। दीपक चाहर ने पारी के दूसरे ओवर में ही लेंडल सिमंस को पहली स्लिप में रोहित शर्मा के हाथों कैच कराकर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। भारत के खिलाफ इससे पहले दो शतक लगाने वाले लुईस आक्रामक मूड में दिख रहे थे।

गेंदबाजी का आगाज करने वाले वॉशिंगटन सुंदर का स्वागत उन्होंने चौके और छक्के से किया था। चाहर ने अपने दूसरे ओवर में शॉर्ट पिच गेंद करने का खामियाजा भुगता तथा लुईस और किंग दोनों ने उन पर छक्के लगाए। लुईस ने भुवनेश्वर कुमार का स्वागत भी छक्के से किया जिससे पांचवें ओवर में ही टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंच गया। सुंदर का छोर बदलकर गेंदबाजी के लिये आये और वह लुईस को चकमा देकर पगबाधा आउट करने में सफल रहे जिन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और चार छक्के लगाए।

किंग और हेटमेयर ने हालांकि आक्रामकता बरकरार रखी। हेटमेयर ने कुछ गगनचुंबी छक्के लगाए। इनमें युजवेंद्र चहल की गुगली पर लगाया गया छक्का दर्शनीय था। जडेजा ने किंग को स्टंप आउट करवाकर भारत को तीसरी सफलता दिलाई, लेकिन अब पोलार्ड क्रीज पर थे जिन्होंने शिवम दुबे की मध्यम गति की शॉर्ट पिच गेंदों का पूरा लुत्फ उठाया। हेटमेयर को भारतीय स्पिनर परेशान नहीं कर पाए। उन्होंने चहल पर छक्का जड़कर टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया।

इस बीच सुंदर ने दो बार हेटमेयर के कैच भी छोड़े। रोहित ने भी पोलार्ड को जीवनदान दिया और गेंद छह रन के लिए चली गई। हालांकि इन दोनों की पारियों का अंत चहल ने ही किया जिन्होंने 36 रन देकर दो विकेट हासिल किए। रोहित ने भी मौके चूकने की भरपायी करते हुए 18वें ओवर में डीप बैकवर्ड स्क्वेयर पर हेटमेयर का कैच लपका। इसके बाद चहल ने पोलार्ड के लेग स्टंप उखाड़ दिए, जिससे वेस्ट इंडीज की 200 रन पार करने की उम्मीद भी कम दिख रही थी। लेकिन जेसन होल्डर ने 24 और दिनेश रामदीन ने 11 रन की नाबाद पारियां खेलकर टीम को 200 रन के पार कराया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!