कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, कहा – रेप के आरोपियों को सरकार बचाने में लगी है

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने देश में हो रहे गैंगरेप और हत्या के मामलों पर केंद्र व राज्य सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि रेप के आरोपियों को सरकार बचाने में लगी है। उन्होंने कहा कि आज महिलाएं असुरक्षित महसूस कर रही हैं ।कोई कार्रवाई नहीं की जाती ।

उन्होंने कहा, ‘इस उन्नाव के केस में भी चार महीने लगे एफआईआर दर्ज करने में और एफआईआर भी तभी दर्ज हुआ, जब कोर्ट ने कहा । सरकार को यह फैसला करना होगा कि वो महिलाओं के पक्ष में है या अपराधियों के पक्ष में और कार्रवाई भी करनी पड़ेगी ।

प्रियंका ने कहा, ‘हम पूरी तरह से महिलाओं के लिए लड़ेंगे । समाज में महिलाओं को सत्ता मिलनी चाहिए। अपनी बहनों से कहती हूं कि आप पुरुषों से सत्ता छीनिए, पंचायत के चुनाव लड़िए। विधानसभा के चुनाव लड़िए, आगे बढ़िए और राजनीति में आइए, ताकि जब इस तरह के हादसे हों तो आप अपने आप को बचा सकें ।

उन्होंने कहा, ‘कानून बहुत स्पष्ट है, निर्भया कांड के बाद कानून स्पष्ट बन गया था । फास्ट ट्रैक कोर्ट के भी प्रोविजन थे, लेकिन उन्हें लागू करने की जरुरत है ।

उन्नाव मामले को लेकर योगी सरकार निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘अगर किसी महिला के साथ अत्याचार होगा और 4 महीने तक एफआईआर तक दर्ज नहीं करेंगे, कोई कार्रवाई नहीं करेंगे, अपराधी को दो महीने में बेल पर छोड़ देंगे । ऐसे में आप कानून व्यवस्था को लागू नहीं कर रहे हैं ।

बता दें कि हैदराबाद में 27 नवंबर की रात एक महिला डॉक्टर से गैंगरेप और हत्या के बाद शव जला देने का मामला सामने आया। इस घटना के बाद देशभर में लोग गुस्से से उबल रहे थे और आरोपियों के लिए सख्त से सख्त सजा की मांग कर रहे थे ।

वहीं हैदराबाद में हुई इस दरिंदगी के बाद एक और घटना उत्तर प्रदेश के उन्नाव से सामने आई। उन्नाव में रेप पीड़िता को आरोपियों ने मिट्टी का तेल डालकर जला दिया । फिलहाल पीड़िता सफदरजंग अस्पताल में भर्ती है और जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है । पुलिस के मुताबिक, आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है ।

वहीं, हैदराबाद में लेडी डॉक्टर से गैंगरेप और हत्या के बाद शव को जलाने वाले सभी चारों आरोपी एनकाउंटर में मार गिराए गए ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!