हैदराबाद एनकाउंटर पर मायावती का यूपी सरकार को नसीहत, यूपी पुलिस ने किया ट्वीट

हैदराबाद पुलिस ने गैंगरेप के सभी 4 आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया और ये चारों आरोपी शुक्रवार को मारे गए । हैदराबाद पुलिस की इस कार्रवाई पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने एनकाउंटर की तारीफ करते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस को तेलंगाना पुलिस से सीख लेने की नसीहत दी थी । इस नसीहत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपने एनकाउंटर के आंकड़े जारी कर दिए।

यूपी पुलिस ने ट्वीट करते हुए का दावा किया कि दो साल में 103 अपराधियों का एनकाउंटर किया गया । यूपी पुलिस ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘आंकड़े अपने आप बोलते हैं. जंगल राज अतीत की बात है । अब नहीं है । पिछले 2 सालों में 5178 मुठभेड़ की घटनाएं हुई हैं, जिसमें 103 अपराधी मारे गए और 1859 घायल हुए । 17745 अपराधियों ने आत्मसमर्पण किया या जेल जाने के लिए अपनी खुद की बेल रद्द कर दी ।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने एनकाउंटर पर कहा, ‘अपनी पार्टी के लोगों को भी हमने जेल भेजा था, जिन पर किसी तरह के आरोप लगे थे । मेरा उत्तर प्रदेश की सरकार से कहना है कि हैदराबाद की पुलिस से यूपी पुलिस को सीख लेनी चाहिए और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए ।

अन्य नेताओं की प्रक्रिया
बसपा प्रमुख मुख्यमंत्री ने कहा कि दुख की बात ये है कि दिल्ली-यूपी में पुलिसकर्मी आरोपी लोगों को सरकारी मेहमान बनाकर रखे हुए हैं, दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस को बदलना होगा । तभी बलात्कारी लोगों की हरकतें रुक सकती हैं, लोगों में कानून का खौफ नहीं है ।

मायावती ही नहीं कई अन्य नेताओं ने भी इस एनकाउंटर की तारीफ की है । आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि हैदराबाद में जो कुछ भी हुआ उससे आज देश की जनता में संतोष है । लोगों में खुशी है कि उन चारों दरिंदों जिन्होंने हैवानियत की थी उनको पुलिस ने मार गिराया ।
हालांकि AIMIM प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हर मुठभेड़ की जांच की जानी चाहिए । इस मामले में राज्य सरकार बहुत सक्रिय थी । हमें महिला सुरक्षा के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है ।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस घटना पर खुशी जताई ।

वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस मामले पर कहा कि पुलिस का कदम बिल्कुल सही है, मानवाधिकार के नाम पर कभी आतंकी, तो कभी देशद्रोही और ऐसे जघन्य अपराधी को बचाया जाता रहा है। क्या ये मानवाधिकार अपराधियों के प्रति ही जागता है? मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस ने जो एनकाउंटर किया है, उन्हें एक्ट के तहत इसका अधिकार है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!