इम्तियाज हत्याकांड मामले में भाई ने आरोपियों को ढील देने का लगाया आरोप

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन । चोपन नगर पंचायत अध्यक्ष इम्तियाज अहमद हत्याकांड मामले में उनके भाई उस्मान अली ने आरोपियों को ढील देने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि गत तीस सितंबर को हुए रेणुकूट चेयरमैन शिवप्रताप सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपियों पर रासुका की कार्रवाई कर दी गई है लेकिन उनके भाई के हत्यारोपियों के खिलाफ अब तक रासुका जैसी बड़ी कार्रवाई नहीं की गई। जबकि आरोपियों का प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद से जुड़ाव पाया जा चुका है। एक साल से नामजद आरोपी भगोड़ा घोषित हैं लेकिन उनकी गिरफ्तारी को लेकर भी कोई प्रयास नहीं किया जा रहा।

उस्मान ने बताया कि वह सीएम तक से एनआइए जांच की भी गुहार लगा चुके हैं लेकिन अब तक इसको लेकर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। उन्हें और गवाहों को बीच-बीच में धमकियां भी मिल रही हैं। इसका एफआईआर भी दर्ज करवा चुके हैं फिर भी आरोपियों को छूट किस आधार पर मिल रही है, वह समझ नहीं पा रहे हैं। इम्तियाज अहमद हत्याकांड मामले में नामजद तीन आरोपियों की आज तक गिरफ्तारी नही हो सकी है। इस मामले की जांच सीबीसीआईडी कर रही है लेकिन हत्याकांड के एक साल बाद भी अभी तक जांच प्रक्रिया पूरी नही की जा सकी। यह अपने आप मे बड़ा सवाल पैदा कर रहा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!