फल वितरण की सूचना न देना पड़ा भारी, 5 अध्यापकों पर वेतन रोकने की कार्यवाही

धर्मेंद्र कुमार गुप्ता (संवाददाता)

महुली । सलईबनवा स्कूल में पानी में दूध की मिलावट की घटना के बाद स्कूल प्रशासन एक्शन में दिख रहा है । यूं तो मिड डे मील की शिकायत पर शिक्षा विभाग कार्यवाही के बजाय नाराजगी ही दिखाया करता था मगर अब अधिकारी खुद सज्ञान ले रहे हैं और कार्यवाही के लिए लिख भी रहे हैं ।

ऐसा ही मामला आज दुद्धी ब्लाक में देखा गया है । जहां शिक्षा क्षेत्र दुद्धी के अलग-अलग स्कूलों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को फल वितरण में अनियमितता पाए जाने पर खंड विकास अधिकारी ने संबंधित अध्यापकों का वेतन रोकने की संस्तुति की है। खंड शिक्षा अधिकारी दुद्धी आलोक कुमार यादव द्वारा जारी पत्र में उल्लेख किया गया है कि अध्यापकों को समस्त सूचनाएं ससमय देने हेतु बार-बार निर्देशित करने के बावजूद सूचना नहीं दी जाती हैं।

इस क्रम में 2 दिसंबर को सोमवार को भी सूचना नहीं दी गई। एबीएसए ने प्राथमिक विद्यालय हरपुरा सेकंड रविकांत पांडेय, उच्च प्राथमिक विद्यालय बैरखड़ पंकज कुमार, प्राथमिक विद्यालय हरपुरा मध्य शमशेर बहादुर सोनकर, प्राथमिक विद्यालय खजूरी अनीता व प्राथमिक विद्यालय मगरदहा पहाड़ी विमलेश सिंह सभी सहायक अध्यापक का दिसंबर माह का वेतन रोकने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा है। एबीएसए की इस कार्यवाही से अध्यापकों में हड़कंप मच गया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!