भगवान श्री राम के विवाह उत्सव पर बजे ढ़ोल-नगाढ़े,सैकड़ों बने साक्षी

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

विंढमगंज। बीती रात्रि दिगंबर अखाड़ा अयोध्या से संबद्ध श्री राम मंदिर पर राम विवाह का भव्य आयोजन के दौरान भगवान राम की बारात पूरे नगर में ध्वनि विस्तारक यंत्र पर “रामजी की निकली सवारी रामजी की, लीला है न्यारी” गांव के सैकड़ों लोग “जय श्री राम” के नारे के साथ नाचते गाते विवाह स्थल पर पहुंचे। वहां पहले से मौजूद कन्या पक्ष से महिलाओं ने मधुर व मीठी-मीठी गालियों से स्वागत करते हुए तरह-तरह के व्यंजन बारातियों को परोसा गया। अंत में मंदिर के महंत मनमोहन दास जी ने राम विवाह में आए लोगों को आशिर्वचन दिए।

गौरतलब है कि दिगंबर अखाड़ा अयोध्या से संबंध श्री राम मंदिर पर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बीती रात्रि को श्री राम विवाह के उपलक्ष में गांव के सैकड़ों महिला व पुरुषों ने भाग लिया। श्री राम की भव्य बारात राम मंदिर के प्रांगण से निकला। बारात में पुराने वाद्य यंत्र, बैंजो व ढोल नगाड़ा के मधुर ध्वनि पर बाराती नाचते गाते जय श्रीराम के जयघोष के साथ आगे बढ़े। बारात थाना गेट के सामने से होते हुए हलवाई चौक ,सुभाष तिराहा, मेन रोड ,मुडीसेमर मोड ,काली मंदिर मोड़, बैंक रोड, सब्जी मंडी गली, साहू चौक ,जयसवाल गली, रामलीला ग्राउंड, अप्पर बाजार होते हुए पुनः श्री राम मंदिर पर पहुंचा बारात पहुंचते ही पहले से द्वार पूजा की रस्म निभाने के लिए मौजूद सैकड़ों महिलाओं ने मीठी मीठी गालियों से स्वागत किया। तत्पश्चात विवाह मंडप में भगवान श्रीराम व सीता का विवाह की रस्म पुरोहित नन्दलाल तिवारी ने प्रारंभ किया।

वर पक्ष से हृदयानंद चौबे, रामेश्वर तिवारी, चंद्रदेव कुमार मिशु जयसवाल, प्रवेश गुप्ता, धर्मेंद्र मद्धेशिया, राजकमल मद्धेशिया, डीसी मद्धेशिया ने अगुवाई की वही कन्या पक्ष से महंत मनमोहन दास, राजू रंजन तिवारी, कृष्णा विश्वकर्मा, अलख नारायण जयसवाल, मुरारी जैशवाल, राजकुमार कुशवाहा, श्री पासवान ने किया। विवाह के दौरान सीता पक्ष से भाई का रस्म विनय उपाध्याय ने लावा व शंख जल दान करके निभाया। इस दौरान मौजूद महिलाएं कमला देवी, कुसुम देवी, शारदा देवी, संतोषी देवी, राजकुमारी देवी, मीरा देवी, सुजान देवी, सीता देवी, उर्मिला देवी ने विवाह गीत गाया तथा लावा मेराई के दौरान” लावा मेराव हो विनय भैया बहिनी तोहार” गीत गाकर विवाह मंडप में चार चांद लगाया। वही विवाह के दौरान बाराती पक्ष से आए लोगों को तरह-तरह के व्यंजन व पुआ-पूरी परोसे गए। सैकड़ों की तादात में बारातियों ने जमकर व्यंजन का लुफ्त उठाया। तत्पश्चात देर रात विवाह समाप्त होने के बाद मंदिर के महंत मनमोहन दास जी ने श्री राम विवाह में आए हुए समस्त श्रद्धालुओं को आशीर्वचन देकर विदा किया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!