पानी में दूध मिलाए जाने का मामला, एबीएसए समेत तीन पर कार्यवाही, कांग्रेस ने शीर्ष नेतृत्व को दी जानकारी

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । पानी में दूध मिलाए जाने के मामले में आज जिलाधिकारी ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर कार्यवाही को लेकर जानकारी दी। जिलाधिकारी ने इसे शिक्षामित्र द्वारा रची गयी साजिश करार देते हुए उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है वहीं चोपन विकास खंड अंतर्गत सलईबनवा स्कूल के अध्यापक व खण्ड शिक्षाधिकारी पर भी कार्यवाही की है।गौरतलब है कि बुधवार को सोनभद्र के शिक्षा विभाग में एक शर्मसार करने वाली घटना का वीडियो वायरल हुआ था जिसमें एक बाल्टी पानी में एक लीटर दूध मिलाकर 81बच्चों को पिलाया गया था। शर्मसार करने वाली इस घटना के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा गया था।बेसिक शिक्षा मंत्री का प्रभारी जिला होने की वजह से अधिकारी सकते में हैं और जिलाधिकारी ने आनन- फानन में जांच कर आज शिक्षामित्र पर एफआईआर दर्ज करने के साथ टीचर पर निलंबन की कार्यवाही के साथ खण्ड शिक्षा अधिकारी के खिलाफ शासन को लिखने की बात कह रहे हैं।

जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने बताया कि यह पूरी घटना शिक्षामित्र की साजिश का नतीजा है जिसके लिए उसे हटा दिया गया है जबकि विद्यालय दूध पहुँचाने की जिम्मेदारी जिस शिक्षक की थी उसे भी दोषी मानते हुए उसे भी निलंबित कर दिया गया है जबकि सही ढंग से मानीटरिंग नहीं कर पाने के कारण एबीएसए के खिलाफ शासन को पत्र लिखा गया है।जहाँ एक तरफ जिलाधिकारी पूरे घटनाक्रम को साजिश करार दे रहे हैं वहीं घटना के वक्त मौके पर मौजूद स्थानीय पत्रकार राजवंश चौबे का कहना है कि वह ग्रामीणों की सूचना पर स्कूल पहुँचे थे और वहाँ का नजारा देखकर वह खुद दंग रह गए और उन्होंने पूरे मामले की वीडियो बना ली। स्थानीय पत्रकार का कहना है कि इस तरह का मामला पहले भी होता रहा है और यह कोई साजिश नहीं है ।

वहीं सोनभद्र दौरे पर आई महिला मंडल की पूर्वी जोन की प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ0 सत्या पांडेय का कहना है कि यह काफी शर्मसार करने वाला मामला है और इसके लिए वे शीर्ष नेतृत्व को अवगत कराएंगी। उनका कहना है कि इस मामले की पूरी जांच होनी चाहिए। उन्होंने इस घटनाक्रम को भ्रष्टाचार से जोड़कर बताया है। उनका कहना है कि भ्रष्टाचार की वजह से ही आज स्कूलों की दशा खराब हो रही है।जिला प्रशासन खूब पढ़ेंगे-खूब बढ़ेंगे का नारा देकर बच्चों को स्कूल तक लाते जरूर है । मगर स्कूल में बच्चे न तो पढ़ पा रहे हैं और न बढ़ पा रहे हैं । एक वीडियो ने चोपन ब्लाक के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में बुधवार को मिड डे मील में बच्चों को दिए गए दूध ने प्रशासन के व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी । अभी तक आपने दूध में पानी मिलाए जाने बात सुनी होगी मगर सोनभद्र में वायरल वीडियो में साफ देखा जा सकता हैं कि कैसे पानी में दूध मिलाया जा रहा है।स्कूल की रसोईया ने बताया कि उसे एक ही लीटर दूध उपलब्ध कराया गया था और उसने 1 लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर पहले उसे गर्म किया और उसके बाद बच्चों में बांट दिया । रसोईया का कहना हैं कि उसे टीचर ने 1 लीटर दूध उपलब्ध कराकर सभी बच्चों में बांटने के लिए कहा था ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!