महाविद्यालय में मनाया गया संविधान दिवस

कृपाशंकर पांडेय (संवाददाता)

* संविधान दिवस पर विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर का हुआ आयोजन

ओबरा । नगर के राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ओबरा में 26 नवम्बर मंगलवार को संविधान दिवस के उपलक्ष्य में विधिक साक्षरता एवं जागरुकता गोष्ठी का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का शुभारम्भ बाबा साहब डॉ भीम राव अम्बेडकर जी के प्रतिमा पर संयुक्त रुप से मालार्पण करके किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ राधाकांत पाण्डेय ने छात्र छात्राओं को भारत एवं संविधान के प्रति श्रद्धावान एवं सच्ची निष्ठा रखने की शपथ दिलाई।और बताया कि भारत देश के आजाद होने के बाद 26 नवम्बर 1950 को संविधान लागू हुआ था जिसके अनुरूप देश की शासन व्यवस्था चलती हैं।गोष्ठी में मुख्य रुप से पधारे राष्ट्रपति पुरस्कृत वरिष्ठ साहित्यकार ओम प्रकाश त्रिपाठी ने संविधान को देश की आत्मा बताते हुए अपने उद्धबोधन में कहा कि हमे संजीवनी के स्वरुप में संविधान को देखना चाहिए और अतीथ से वर्तमान को देखते हुए भविष्य के जीवन शैली में उसका आचरण करना चाहिए।साथ ही हर छात्र छात्रा को अपने संविधान का सम्यक अध्ययन कर अधिकारों के प्रति नही बल्कि कर्तव्यों के प्रति उत्तराप्रेक्षित होकर उसे समझ आत्म मुल्यांकन एवं आत्मदर्शन की आवश्यकता है।एवं अतीत के संस्कार,संस्कृत और भारत की मनीषा भारत के लोकजीवन,लोक पर्व त्योहार,नैतिकता,मानवीय मूल्य सभी का संरक्षण करने में अपनी भूमिका आज के युवा पीढ़ी को देनी चाहिए।वही विशिष्ट रूप से उपस्थित विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट आर एन पाण्डेय ने छात्र छात्राओं को भविष्य में होने वाले चुनौतियों का सामना करने के लिए संविधान की प्रस्तावना एवं विभिन्न अनुसूची अनुच्छेदों,सामाजिक न्याय की धाराओं,समरसता एवं शिक्षा के मूल अधिकार पर प्रकाश डालकर निहित अधिकार एवं कर्तव्यों को बताया।साथ ही महाविद्यालय के विद्वत प्राध्यापकगण में डॉ किशोर कुमार सिंह,डॉ अमूल्य कुमार सिंह,डॉ संतोष कुमार सैनी,डॉ राजेश प्रसाद,डॉ विकास कुमार,डॉ उपेन्द्र कुमार,डॉ विभा पाण्डेय ने अपना उद्बोधन दिया।गोष्ठी में एड उमेश मिश्र, एड अखिलेश मिश्र एवं महाविद्यालय के प्रमोद केशरी,विकास कुमार मौर्य,अरुण कुमार,महेश कुमार पाण्डेय,रुचि शुक्ला एवं महाविद्यालय के छात्र-छात्राए उपस्थित रहें।
कार्यक्रम का संचालन डॉ.ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने किया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!