आंगनबाड़ी केंद्र बने हैं शो-पीस

  • बच्चों के भविष्य के साथ किया जा रहा खिलवाड़

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ (मीरजापुर) । स्थानीय विकास खंड अन्तर्गत विभिन्न गांवों में आंगनबाड़ी केंद्र महज शो पीस बनकर रह गए हैं!आंगनबाड़ी केंद्रों पर पांच साल से कम उम्र के बच्चों को मिलने वाली नि:शुल्क सरकारी सुविधाएं मुहैया नहीं हो पा रही हैं। विकास खंड के हर ग्राम पंचायतों में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र महज दिखावा साबित हो रही हैं। जहाँ एक ओर सरकार नौनिहालों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए तरह-तरह की योजना चला रही है । वहीं आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को मिलने वाली सुविधाएं सिर्फ कागजों पर दर्ज कर दी जा रही हैं! जिससे सरकार की मंशा पर पानी फिर रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के लिए बनाए जा रहे मध्याह्न भोजन में भ्रष्टाचार का ग्रहण लग चुका है तथा बच्चों को पुष्टाहार भी नसीब नहीं होता है । जहाँ बच्चों को खेल खिलौनों के माध्यम से बच्चों की शिक्षा प्रारंभ होती है और उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए तरह-तरह की योजनाएं क्रियान्वित होती हैं, वहीं विभागीय कर्मचारियों की वजह से सरकारी योजनाओं पर पानी फिर रहा है और बच्चों का भविष्य अंधकार में बना हुआ है। इस विभाग के अधिकारी, कर्मचारी इस कदर लापरवाह हैं कि किसी भी कार्यदिवस में आंगनबाड़ी केंद्रों की जांच पड़ताल करने की जहमत नहीं उठाते। जिससे बेपरवाह आंगनबाड़ी कार्यकर्तियां अपने केन्द्रों का संचालन भी ठीक से नहीं कर रहीं जिससे राजगढ़ विकास खंड के तमाम आंगनबाड़ी केंद्र सिर्फ शो पीस बनकर रह गए हैं। जबकि सरकार की मंशा है कि नौनिहालों के स्वास्थ्य की जांच एवं उनके वजन को ध्यान में रखते हुए उन्हें पौष्टिक आहार, मौसमी फल, दूध इत्यादि के माध्यम से उनके शारीरिक और मानसिक विकास पर विशेष ध्यान देना है परंतु आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के हक और अधिकार को छिनने का काम किया जा रहा है। जिससे आम जनमानस में आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों को भेजने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई दे रही हैं। जिससे सरकार की मंशा पर पानी फिर रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!