एनसीपी ने अपने विधायकों के बदले ठिकाने, हलफनामें लिए गए – सूत्र

महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई अब सुप्रीम कोर्ट में लड़ी जा रही है। अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला ही तय करेगा कि महाराष्ट्र में आगे क्या होगा? लिहाजा सुप्रीम कोर्ट में कानूनी जंग जीतने के लिए राजनीतिक पार्टियां पुरजोर कोशिश कर रही हैं । सूत्रों के मुताबिक मुंबई के रेनेसां होटल में एनसीपी के विधायकों से हलफनामा लिया गया है, जिसको सुप्रीम कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मुंबई के रेनसां होटल में रविवार को दिनभर गहमागहमी का माहौल रहा । राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेताओं का यहां आना-जाना लगा रहा । एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार खुद इस होटल में पहुंचे और एनसीपी के विधायकों से बात की । इस होटल में एनसीपी के कितने विधायक हैं इसकी जानकारी अबतक नहीं हो पाई है । लेकिन एनसीपी को लगातार अपने विधायकों के टूटने का डर सता रहा है । इसी वजह से देर शाम तक एनसीपी ने अपने विधायकों को होटल रेनसां से होटल हयात शिफ्ट करने का फैसला लिया । रात के लगभग 10 बजते-बजते एनसीपी के सभी विधायकों को हयात होटल में शिफ्ट कर दिया गया ।

सूत्रों के मुताबिक रेनसां होटल से हयात होटल शिफ्ट करने से पहले वहां मौजूद सभी एनसीपी विधायकों से एनसीपी विधायकों से एक हलफनामे पर दस्तखत करवाया गया । इस हलफनामे को अदालत में पेश किया जाएगा ।हालांकि इस हलफनामें क्या लिखा है इसकी जानकारी अभी तक नहीं हो पाई है ।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को अपने विधायकों के जासूसी का डर सता रहा है । रेनसां होटल में जहां एनसीपी के विधायक ठहरे थे वहां पर सादे कपड़ों में एक पुलिसकर्मी को देखा गया था । इस दौरान एनसीपी नेताओं और पुलिसकर्मी के बीच बहस भी हुई। जासूसी की कथित खबरें आने के बाद ही एनसीपी ने अपने विधायकों को रेनेसां होटल से हयात होटल में शिफ्ट करने का फैसला किया था ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!