डीएम के आदेश पर गठित हुई तीन सदस्यीय जांच समिति की जांच में हुए घोटाले का खुलासा

सुरेश श्रीवास्तव (संवाददाता)

★ मोहनपुर ग्राम पंचायत में हुए घोटाले में 16 लोगों पर होगी एफआईआर

★ ग्रामीणों की शिकायत पर जिलाधिकारी ने दिए थे जांच के आदेश

★ 3 सदस्यीय जांच टीम ने पाया दोषी

★ जिला पंचायत राज अधिकारी ने सभी को स्पष्टीकरण देने का दिया मौका

खुटार। ग्राम पंचायत मोहनपुर में गांव के विकास के लिए आई धनराशि का ग्राम प्रधान ने खुद अपने नाम अपने पति, पुत्र व अपने चाहतों के नाम पर चेक काटकर लाखों रुपए का गबन किये जाने का मामला प्रकाश में आया था । इसका खुलासा ग्रामीणों की शिकायत पर डीएम द्वारा गठित की गई 3 सदस्यीय जांच समिति की जांच में हो गया है। ग्राम पंचायत में हुए गबन की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद मुख्य विकास अधिकारी ने ग्राम प्रधान, सचिव समेत 16 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज के आदेश दे दिए हैं। एफआइआर के आदेश के बाद जिला पंचायत राज अधिकारी पवन कुमार ने संबंधित ग्राम विकास अधिकारियों व प्रधान को अंतिम अवसर देते हुए 18 अक्टूबर को कारण बताओ नोटिस जारी कर 3 दिन के अंदर साक्ष्यों सहित अभिलेख सहित उपस्थित होने के आदेश दिए हैं। आदेशों की अवहेलना करने पर गबन की गई धनराशि की रिकवरी संबंधों के वेतन से वसूल करने के साथ ही एफआईआर कराने के भी आदेश दिए हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!