26 नवम्बर से 14 अप्रैल तक मनाया जाएगा ‘समरसता दिवस’

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । भारतीय लोकतन्त्र की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारत सरकार द्वारा संविधान के महत्वपूर्ण बिन्दु-मूल कर्तव्य के सम्बन्ध में एक राष्ट्रीय अभियान जन-जागरूकता हेतु चलाये जाने का निर्णय लिया गया है।
इस सम्बन्ध में प्रमुख सचिव पंचायतीराज, अनुराग श्रीवास्तव द्वारा शासनादेश जारी किया गया है।
वही जारी शासनादेश में प्रदेश के सभी मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों से कहा गया है कि यह अभियान 26 नवम्बर 2019 से 14 अप्रैल 2020 तक बाबा साहब डा0 भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती तक मनाया जायेगा।
बाबा साहब डा0 भीमराव आम्बेडकर जी का जन्मदिवस 14 अप्रैल 2020 को ‘‘ समरसता दिवस‘‘ के रूप में मनाया जायेगा।
इस अवसर पर ग्राम-पंचायत, क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायतों की नियत समय पर विशेष बैठकों का आयोजन व नागरिकों के मूल कर्तव्यों के सम्बन्ध में शपथ एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता तथा प्रत्येक शनिवार को भारत सरकार व राज्य सरकार के विभिन्न कार्यक्रम एवं योजनाओं के रिपोर्ट कार्ड का सार्वजनिक पाठन भी किया जायेगा।
संविधान को ग्रहण किये जाने की तिथि 26 नवम्बर को ‘संविधान दिवस‘ के रूपमें मनाये जाने के अवसर पर संविधान निर्माण के लिए अमूल्य योगदान हेतु बाबा साहब डाॅ0 भीमराव आम्बेडकर व अन्य संविधान निर्माताओं को श्रद्धा सुमन अर्पित किया जायेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!