अनपरा ‘डी’ परियोजना में आगजनी पर बीजेपी विधायक बोले- दुर्व्यवस्था की होगी जांच

जयप्रकाश सिंह (संवाददाता)

– घटना में 4 लोग झुलसे

– बयान देने से बचते नजर आए अधिकारी

– करोड़ों के नुकसान का लगाया जा रहा अनुमान

– बीजेपी नेता बोले- हर महीने हो रही घटनाएं

– काफी मशक्कत के बाद आग पर पाया गया काबू

1000 मेगावाट की अनपरा डी परियोजना के 7वीं यूनिट के टरबाइन में अचानक आग लगने से हड़कम्प मच गया । इस आगजनी की घटना में जहां 4 लोगों के झुलसने की बात सामने आ रही है वहीं परियोजना को करोड़ों रुपये के नुकसान होने का अंदेशा लगाया जा रहा है । जिस तरह से आग की लपटें दिखाई दे रही है उससे यह साफ तौर पर कहा जा सकता है कि परियोजना को बड़ा नुकसान हुआ है । खबर लिखे जाने तक कोई भी आधिकारिक बयान नहीं मिल सका है क्योंकि परियोजना में अंदर मीडिया का प्रवेश वर्जित है और कोई अधिकारी अभी बाहर आकर कुछ बोलने को तैयार नहीं है लेकिन जिस तरह से परियोजना में हर महीने घटनाएं घट रही हैं स्थानीय लोगों के साथ बीजेपी विधायक और बीजेपी नेता भी सवाल खड़ा करने लगे हैं।

बीजेपी से ओबरा विधायक संजीव गोड़ का कहना है कि परियोजना में दुर्व्यवस्था बढ़ी है और इसको लेकर वे मंत्री मंडल में बात करेंगे । विधायक का कहना है कि घटना दुःखद है और इसमें कुछ अधिकारी भी झुलसे हैं, काफी दुःखद है ।

वहीं बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष ओमकार केसरी का कहना ही कि हर महीने यह घटना घट रही है । सुरक्षा के नाम पर खिलवाड़ चल रहा है । उनका कहना ही कि सरकार करोड़ों रुपये भेज रही है लेकिन उसका क्या किया जा रहा है, आखिर घटना क्यों घट रही इसकी जांच कराई जाएगी । पूर्व जिलाध्यक्ष के तो यहां तक खनम है कि यदि परियोजना को मेंटेनेंस की आवश्यकता है तो उसे बन्दकर पहले मरम्मत करानी चहिए ताकि जनधन की हानि से बचा जा सके ।
बहरहाल आग पर काबू तो पा लिया गया है लेकिन अभी तक कोई भी अधिकारी आधिकारिक बयान देने की स्थिति में नहीं है ।

फिलहाल आगजनी की यह कोई नई घटना नहीं है । इसके पहले भी कई बार परियोजना में आगजनी की घटना घट चुकी है लेकिन इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इस पर कोई ठोस रणनीति नहीं बन सकी । जिसका नतीजा है कि घटना के कुछ दिनों बाद सब कुछ भुला दिया जाता है और फिर सब कुछ सामान्य तरीके से चलने लगता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!