अयोध्या पर फैसले से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने की अपील की

अयोध्या के विवादित स्थल को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला अब से थोड़ी देर में आने वाला है। पूरी दुनिया की नजर अयोध्या पर है । आपको बता दें कि अयोध्या में सुरक्षा बढ़ा दी गई है । अभी अयोध्या में पंचकोसी और चौदहकोसी परिक्रमा चल रही थी। कार्तिक मेले के चलते अल्पवास करने के लिए करीब 20 लाख लोग अयोध्या में आए थे । जिनमें से करीब 80 फीसदी लोग जा चुके हैं । इन श्रद्धालुओं को उनके जिले में भेजने के लिए हजारों बसों की व्यवस्था की गई थी ।

अयोध्या में अल्पवास करने आए कुछ श्रद्धालुओं का मन था कि परिक्रमा के बाद वे कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करके जाएं । परिक्रमा पूरी हो चुकी थी, लेकिन जैसे ही सुप्रीम कोर्ट के फैसले की खबर लोगों को लगी तो लोग अयोध्या से जाने लगे ।

तत्काल स्थानीय प्रशासन ने उत्तर प्रदेश परिवहन की बसों को लगाकर अयोध्या में मौजूद लाखों श्रद्धालुओं को उनके जिलों की तरफ शुक्रवार रात ही रवाना कर दिया । कुछ श्रद्धालु शनिवार सुबह तक रवाना किए गए है ।

अयोध्या शहर में अंदर आने के सारे रास्तों को बंद कर दिया गया। विवादित स्थल के चारों तरफ 2 किलोमीटर के क्षेत्रफल को पूरी तरह से सील कर दिया गया है ।
यहां लोगों के बीच काफी सौहार्द है । लोग शांति से रह रहे हैं । यहां के लोगों को फर्क नहीं पड़ता कि बाहर क्या होता है? अयोध्या में शांत रहने की परंपरा है । अयोध्या पहले भी शांत थी, अब भी है और आगे भी रहेगी । लोगों कहना है कि आने वाला यह फैसला कोर्ट का है और जो भी फैसला होगा उसे हम सभी मानेंगे तथा भाईचारे के साथ रहेंगे ।

प्रधानमंत्री ने शुक्रवार की रात ट्वीट कर पूरे देश वासियों से अपील की है कि वे सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखें । पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि सुप्रीम कोर्ट कजो भी फैसला आएगा वो किसी की हर-जीत नहीं होगा ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!