तीस हजारी कोर्ट में विवाद का मामला : स्पेशल सीपी और एडिशनल डीसीपी का तबादला

पिछले हफ्ते दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच झड़प मामले में स्पेशल सीपी संजय सिंह और एडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार का तबादला कर दिया गया है । इन दोनों को दिल्ली कोर्ट के आदेश पर हटाया गया है ।

स्पेशल सीपी (नार्थ) लॉ एंड आर्डर संजय सिंह का तबादला लाइसेंसिंग और ट्रांसपोर्ट विभाग में कर दिया गया है, जबकि एडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार (नार्थ) का तबादला रेलवे विभाग में किया गया है । इनके अलावा एक और पुलिस अफसर दिनेश कुमार गुप्ता का भी तबादला कर दिया गया है ।

तीस हजारी कोर्ट में हिंसा के बाद मामला हाई कोर्ट पहुंचा था, जहां स्पेशल सीपी लॉ एंड आर्डर और एडिशनल डीसीपी के ट्रांसफर का आदेश दिया गया था, लिहाजा आज स्पेशल सीपी संजय सिंह और एडिशनल डीसीपी हरेंद्र सिंह का तबादला कर दिया गया, हालांकि इन दोनों की नई तैनाती भी अहम जगहों पर की गई है ।

इस कांड के बाद सड़कों पर उतरे दिल्ली पुलिस के जवानों का गुस्सा सीनियर अफसरों खासकर दिल्ली पुलिस कमिश्नर पर फूटा था, लिहाजा आज दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमुल्य पटनायक तीस हजारी कांड में घायल पुलिस वालों के घर गए और उनका हाल चाल जाना ।

तीस हजारी कोर्ट में दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हुई खूनी झड़प का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि तीस हजारी कोर्ट के लॉक अप में आग लगाई गई जहां पुलिस वाले छुपे हुए थे ।आग लगने के बाद जोरदार धमाका हुआ और लोग भागने लगे ।
सीसीटीवी में डीसीपी मोनिका भारद्वाज दिखाई दे रही हैं जिन्हें कुछ पुलिस वाले बचा कर निकालने की कोशिश कर रहे हैं, साथ ही पुलिस वाले भागते दिखाई दे रहे हैं ।

इसी सीसीटीवी में एसएचओ कोतवाली के साथ मारपीट करते वकील भी दिखाई दे रहे हैं. सीसीटीवी में लॉक अप के पास आग लगी जो तेज लपटों के साथ फैली और धमाका हुआ, डीसीपी मोनिका भारद्वाज को कई पुलिस वाले घेरा बना कर कोर्ट से बचाते हुए ले जा रहे हैं ।

दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को बार एसोसिएशन के सदस्यों और दिल्ली पुलिस के सीनियर अफसरों के बीच बैठक हुई । पुलिस और वकील के बीच जारी झगड़े का असर यहां पर भी देखने को मिला है । बैठक में दोनों ओर से तनातनी दिखी और कुछ देर बाद ही वकील वहां से निकल गए।

यह बैठक बेनतीजा भी रही ।दरअसल, काफी दिनों से कोर्ट का काम प्रभावित हो रहा है, वकील हड़ताल पर हैं और पुलिस भी कोर्ट जाने से डर रही है इसलिए यह मीटिंग बुलाई गई थी, अब आने वाले दिनों में ऐसी मीटिंग और होने की संभावना है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!