राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद से सम्बन्धित संभावित फैसले को लेकर प्रशासन ने की बैठक

भारत एक संवैधानिक देश है, मा0 सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हमेशा से माना जाता रहा है, आगामी दिनों में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद से सम्बन्धित संभावित आने वाले फैसला सर्वमान्य होगा। संभावित फैसले के आने के बाद किसी भी अधिकारी व कर्मचारी को फैसले के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं होगा, बल्कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले आने के बाद जिले में अमन-चैन कायम रखने के मद्देनजर पुलिस विभाग के साथ ही जिले के सभी विभाग अपने-अपने विभागो के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के सम्मान में कानून व्यवस्था बनाये रखने के निमित्त निभायेंगें।

उक्त बातें जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक श्री आशीष श्रीवास्तव ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में जिले के जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ आयोजित समन्वय बैठक में कहीं। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों का दायित्व है कि वे शासन की मंशा के अनुरूप संवैधानिक निर्णयों का सम्मान करें। इसलिए आगामी दिनों में मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिये जाने वाले संभावित फैसले के निमित्त सभी विभाग के अधिकारी व कर्मचारी अपने-अपने विभाग के संसाधनों के साथ लगकर पूरी क्षमता से सकारात्मक सहयोग करेंगें। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पहले से ही सभी विभाग अपने-अपने विभागों का कम्यूनिकेशन प्लांन तैयार रखेंगें और संभावित सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद जिले में कानून व्यवस्था बनाये रखने के निमित्त जरूरत के मुताबिक सभी का सहयोग लिया जायेगा।
बैठक में जिलाधिकारी राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक श्री श्रीवास्तव के अलावा मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक ओ0पी0 सिंह, उप जिलाधिकारीगण, जिला स्तरीय अधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!