देश की प्राचीन खेल कुश्ती को बढ़ाने की है जरूरत: सुशील सिंह

अबुलकैश ब्यूरो
* मुलायम ने राजू को पटखनी देकर मारी बाजी
* महिला पहलवानों ने भी किया जोर आजमाइश

चंदौली । धानापुर कुश्ती देश की प्राचीन खेलों में से एक है जिससे हम मनोरंजन के साथ स्वास्थ्य को भी ठीक रकेह सकते हैं। उक्त बातें क्षेत्रीय विधायक सुशील सिंह ने रविवार को कस्बा स्थित सरस्वती शिशु मंदिर प्रांगण में आयोजित अंतरप्रांतीय विराट कुश्ती दंगल में बतौर मुख्य अतिथि कहा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र पहलवानों और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए हमारा दरवाजा हमेशा से खुला है। सरकार भी कुश्ती को प्रोत्साहित कर रही है कई फिल्में भी कुश्ती पर आधारित प्रदर्शित हुई जिसे सरकार ने टैक्स फ्री कर जागरूक करने का कार्य किया। दंगल का शुभारंभ प्रधान प्रतिनिधि रामशरण यादव गुड्डू ने फीता काटकर पहलवानों का हाथ मिला कर शुरू किया। सबसे रोमांचक मुकाबला मुलायम हरदनजुड़ा बनाम राजू सरसा के बीच पांच हजार के लिए हुए जिसमे मुलायम ने पटखनी दी। महिला पहलवान मुकाबला मोनिका दिल्ली और नेहा मिश्र डीएलडब्लू के बीच 6 हजार का बराबरी पर समाप्त हुआ। सबसे बड़ा मुकाबला 12 हजार का बराबरी पर प्रवीण गया सेठ और नेहरू काछवा के बीच हुआ। दस हजार रुपये के इनाम में अरविंद गया सेठ ने चंदन सारनाथ को पटखनी दिया। कुश्ती दंगल में विभिन्न समाजसेवी और जनप्रतिनिधियों ने पहलवानों का हाथ मिला कर प्रत्येक कुश्ती का शुभारंभ कराया वहीं कमेटी ने दर्जनों लोगों को सम्मानित भी किया।

इस दौरान मुख्य रूप से पहलवान सहरे आलम खान, रामधनी यादव, राजन खान, इमरान खान, सत्यदेव यादव, संजय यादव, रामजी यादव, दुलारे कुशवाह, रामजी कुशवाहा, सुद्धन राईन, प्रमोद सेठ, गंगा यादव, डॉ लालजी कुशवाहा, रंगीले शर्मा सहित सैकड़ों कुश्ती प्रेमी उपस्थित थे। निर्णायक मुन्नीलाल कोच, अजय सिंह रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!