टैंक की सफाई कर रहे 6 मजदूरों में 5 की मौत, एक घायल


सुलतानपुर जिले में दोस्तपुर क्षेत्र के कटघरा चिरानीपट्टी गांव में शुक्रवार को पुराने शौचालय के गड्ढे की सफाई के दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से राजगीर समेत छह लोग बेहोश हो गए। उन्हें ग्रामीणों की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। वहां पर पांच को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। एक की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामला दोस्तपुर इलाके के कटघरा पट्टी गांव का है । गांव के निवासी रामतीरथ के शौचालय के टैंक का पुनर्निर्माण होना था। जिसके चलते टैंक की सफाई के लिए 6 मजदूर काम पर लगे थे । टैंक सफाई के दौरान अचानक मजदूर बेहोश होने लगे ।

पहले तो किसी को कुछ समझ नही आया लेकिन उसके बाद अंदेशा हुआ कि टैंक में गैस है जिस कारण ये लोग बेहोश होने लगे । आनन-फानन में 6 लोगों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया । जहां पर डॉक्टरों ने 5 मजदूरों के मौत की पुष्टि कर दी और मौत का कारण जहरीली गैस बताया । मरने वालों में राजेश, अशरफ, रविन्द्र, और रामकिशन शामिल हैं, वहीं छठे मजदूर विनोद की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है ।

अचानक हुई इन 5 मौतों से जहां इलाके में हड़कंप मचा है । वहीं मृतकों के परिवारवालों और पुलिस के बीच नोकझोंक की भी खबर आई । बताया जा रहा है कि परिवार वाले मृतकों का शव ले जाना चाह रहे थे वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने शव को पोस्टमाॉर्टम के लिए रोका था, जिसके बाद सारा विवाद शुरू हुआ ।

बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि गटर की सफाई के दौरान किसी मजदूर की मौत हुई हो. देश के हर कोने से गटर से निकलने वाली जहरीली गैस सफाईकर्मियों और मजदूरों की मौत की खबर हर कुछ समय बाद आती रहती हैं । इसी साल मई में राजधानी दिल्ली में टैंक की सफाई के दौरान दो मजदूरों की मौत हो गई थी । हरियाणा के रोहतक में भी गटर की जहरीली गैस से चार मजदूरों की मौत हो गई थी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!