महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच कड़वाहट बढ़ी, नहीं निकल रहा कोई रास्ता

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच बयानबाजी जारी है । इस बीच 50-50 के फॉर्मूले पर अड़ी शिवसेना ने बीजेपी के साथ आज होने वाली बैठक रद्द कर दी है । शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि सरकार गठन को लेकर शाम 4 बजे दोनों दलों के बीच बैठक होने वाली थी लेकिन फडणवीस के बयान के बाद ठाकरे ने इसे रद्द कर दिया ।

मीटिंग में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर और शिवसेना के कई सीनियर लीडर हिस्सा लेने वाले थे। शिवसेना नेता ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि सरकार गठन पर चर्चा को शुरू करने के लिए इस बैठक में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव के शामिल होने की उम्मीद थी। वहीं शिवसेना की तरफ से सुभाष देसाई और संजय राउत हिस्सा लेने वाले थे ।

शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इससे पहले 50-50 फॉर्मूले की बात की थी । अब अगर सीएम कहते हैं कि 50-50 फॉर्मूले के बारे में कोई बातचीत नहीं हुई है, तो ऐसे में बातचीत का कोई आधार नहीं है । हमें लगता है कि सच्चाई की परिभाषा बदल गई है ।

बता दें कि मंगलवार को देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना पांच साल के लिए मुख्यमंत्री पद चाहती है, लेकिन मांगना और प्रैक्टिकल होना दो अलग बातें हैं। मुख्यमंत्री पद को लेकर कभी कोई 50-50 फॉर्मूला तय नहीं हुआ था ।

सियासी घमासान के बीच बीजेपी सांसद संजय काकडे ने बड़ा दावा किया है । उनका कहना है कि शिवसेना के करीब 45 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं, जो उनके साथ मिलकर सरकार बनाना चाहते हैं ।

इस बार महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में शिवसेना के कुल 56 विधायक चुनकर आए हैं । बीजेपी सांसद ने कहा कि शिवसेना के 56 में से 45 विधायक लगातार कॉल कर रहे हैं और कह रहे हैं कि सरकार में उन्हें भी शामिल किया जाए ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!