बाबूलाल बने पीसीएस अधिकारी गांव मे जश्न का माहौल

पी0के0विश्वकर्मा (संवाददाता)

कोन। अति पिछड़े आदिवासी क्षेत्र के गरीब मजदूर परिवार मे जन्मे बाबू लाल ने पीसीएस 2017 मे क्वालीफाई करके वाणिज्य कर अधिकारी के पद पर चयनित होने से गाँव मे जश्न का माहौल देखा जा रहा है। जिसकी सुचना मिलते ही मंगलवार को बाबूलाल के पैतृक गांव घघिया कोन मे ग्रामीणों ने बाबूलाल के बुजुर्ग माता पिता रामदास खरवार के घर पहुंच कर बूढें माता पिता को फूल मालाओं से लादकर एक दुसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का जश्न मनाते हुये बधाइयां दिया।

बतादे कि बाबूलाल अति गरीब परिवार में जन्मे जिनके माता पिता मजदूरी कर जीवन यापन करते रहे वही से जन्मे बाबूलाल ने अपनी गुरूओं के प्रेरणा से पूरी लगन से ट्यूशन पढाकर अपनी पढाई करते रहे, जहां आज दो बार मे ही पीसीएस 2017 मे चयनित होकर वाणिज्य कर अधिकारी पर चयनित हुये।बाबूलाल ने बताया की कक्षा 1 से 5 तक की पढाई गांव के प्राइमरी स्कूल से व कक्षा 6 से हाईस्कूल तक की पढाई कोन राजकीय इंटर कालेज से पूरा किया वही से गणित अध्यापक महेंद्र सिंह यादव से मिली प्रेरणा से लगातार पढाई मे लगा रहा व 2012 मे एस एस सी से रक्षा मंत्रालय मे कनिष्ठ अनुवाद के पद पर चयनित हुआ ।

तब से लगातार तैयारी मे जूटे रहे व दुसरी बार मे पीसीएस परीक्षा मे सफल होने की बात बताई। जो क्षेत्र के लिए मिसाल बन गया है लोगों मे खासी चर्चा हो रही है कि यदी लगन व प्रतिभा हो तो व्यवस्था बाधा नही बनती जिसका मिसाल बाबूलाल को लोग मान रहे है।इस अवसर पर मुख्य रूप से घर परिवार के अलावा विरेंद्र गुप्ता, राजेश त्रिपाठी, मानिकचंद खरवार, होशियार सिंह, जोगिंदर पासवान, अवधेश यादव समेत दर्जनों ग्रामीण मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!