जिलाधिकारी ने महिला स्वयं सहायता समूहों को 80 प्रतिशत के अनुदान पर प्राप्त रूपये 15 लाख के कृषि उपकरणों का प्रदान किया स्वीकृति पत्र

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । तहसील सम्पूर्ण समाधान दिवस के पश्चात कृषि विभाग द्वारा संचालित भारत सरकार की योजना सीटू मैनेजमेंट के तहत महिला स्वयं सहायता समूह राम रहीम करेली तिरकुनिया को फर्म मशीनरी बैंक के तहत 15 लाख रूपये के कृषि यंत्र 80 प्रतिशत के अनुदान पर प्राप्त लाभान्वित समूहों को जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव द्वारा स्वीकृति पत्र प्रदान किया गया।
वही सीटू योजना के तहत कस्टम हायरिंग सेंटर के अन्तर्गत एक अन्य कृषक मनजीत सिंह को 18 लाख रूपये के 5 कृषि यंत्र जिसमें ट्रैक्टर व लेजरलैण्ड पर 40प्रतिशत का अनुदान एवं अन्य पर 3 यंत्र पर 80 प्रतिशत का अनुदान प्राप्त लाभार्थी को जिलाधिकारी द्वारा ट्रेक्टर की चाबी प्रदान कर लाभान्वित किया गया।
इस अवसर पर उप निदेशक कृषि द्वारा अवगत कराया गया कि इस योजना के अन्तर्गत जनपद में 10 स्वयं सहायता समूहों को 80 प्रतिशत के अनुदान पर व 76 व्यक्तिगत कस्टम हायरिंग सेंटर के तहत लाभार्थियों को लाभ प्रदान करने हेतु लक्ष्य प्राप्त हुआ। उन्होंने बताया कि इस योजना को संचालित करने का मुख्य उद्देश्य फसल अवशेष को न जलाकर उसका प्रबन्धन कर खाद के रूप में उपयोग करना है। इस योजना के तहत प्राप्त यंत्रों में पराली को काटकर जैविक खाद के रूप में उपयोग करना है।
क्योंकि इस योजना के तहत किसानों को पराली न जलाने के लिए प्रेरित करने के साथ साथ अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने बताया कि पराली जलाना एक अपराध है इसके तहत रूपये 2500 से 15,000/-रूपये तक जुर्माना लगाया जा सकता है।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित, मुख्य विकास अधिकारी रमेश चन्द्र पाण्डेय, उप जिलाधिकारी अमरिया, उप निदेशक कृषि यशराज सिंह, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार यादव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!