लाभार्थी ने आवास में पैसे मांगने का लगाया गम्भीर आरोप, बीडीओ बोले- की जा रही जांच

आशुतोष कुमार (संवाददाता)

विशुनपुरा । जहाँ एक तरफ सरकार हर सिर को छत देने का दावा कर रही है वहीं विभाग के कुछ लोग इस योजना को पलीता लगाने में जुटे हैं । यूं तो सरकार ने आवास के लिए धन सीधे खाते में भेजने का काम करती है लेकिन कई भ्रष्ट लोग बिना सुविधा शुल्क लिये क़िस्त नहीं जारी कर रहे ।

ऐसा ही एक मामला बिशुनपुरा प्रखंड के अमहर खास पंचायत की कोचेया ग्राम के मधुरी टोले की निवासी नैमुदिन अंसारी की पत्नी मैरून बीबी का है। जिन्होंने डेढ़ वर्ष पूर्व ही आवास योजना के मिले दो क़िस्त के पैसे से छत ढलाई लेवल तक कार्य पूरा करा लिया था।लेकिन बीच में बीमारी की वजह से वह आवास की ढलाई नही करा पाया । लेकिन तब से आज तक लाभार्थी के खाते में आवास का तीसरे क़िस्त का पैसा नही भेजा गया। आलम यह था कि पूरा बरसात परिवार किसी प्रकार प्लास्टिक डाल कर गुजार लिया लेकिन वावजूद इसके प्रखंड विकास पदाधिकारी को दया आई । पीड़ित परिवार का आरोप है कि उससे क़िस्त भेजने के नाम पर सुविधा शुल्क मांगा जा रहा है।

मैरून बीबी के पति नैमुदिन अंसारी ने बताया कि
प्रधानमंत्री आवास का पहला और दूसरे क़िस्त की राशि 58500 रु मिला था, अब ढलाई के लिए तीसरा क़िस्त 52000 रु मिलना बाकी है। जिसके लिए सुविधा शुल्क मांगा जा रहा है । उन्होंने बताया कि बीडीओ को लिखित आवेदन देकर अपनी समस्या के बारे में अवगत कराया लेकिन अभी तक बीडीओ द्वारा भी कोई कार्यवाई नही किया गया।

वही इस संबंध में बीडीओ संदीप अनुराग टोपनो ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है, इसकी जांच की जा रही है, लाभार्थियों से मिलकर पूरे मामले की जानकारी प्राप्त की जा रही है, दोषी पाए जाने पर संबंधित लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!