जल्द जन्नत घूमने जा सकते हैं पर्यटक, ट्रैवल एडवाइजरी को रद्द करने का आदेश

जम्मू-कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं।राज्य प्रशासन सैलानियों के घाटी छोड़ने और वहां न जाने संबंधी एडवाइजरी को करीब 2 महीने बाद वापस लेने जा रहा है।

जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने घाटी में पर्यटकों को लेकर जारी ट्रैवल एडवाइजरी को रद्द करने का आदेश दिया है । उन्होंने ये फैसला सोमवार को बुलाई गई समीक्षा बैठक में लिया । राज्यपाल ने निर्देश दिया कि पर्यटकों को घाटी छोड़ने की गृह विभाग की एडवाइजरी को रद्द किया जा रहा है । ये आदेश 10 अक्टूबर से लागू होगा ।

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को सलाहकारों और मुख्य सचिव के साथ जम्मू और कश्मीर के हालात पर समीक्षा बैठक की । बैठक में योजना, आवास और शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिवों ने भी भाग लिया । राज्यपाल 5 अगस्त से हर दिन आमतौर पर 6 से 8 बजे तक एक समीक्षा बैठक करते हैं ।

जम्मू कश्मीर में प्रतिबंधों के लागू होने के बाद सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा बैठकें होती रही हैं। पिछले छह हफ्तों से जम्मू कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में सभी सुरक्षा प्रतिबंध हटा दिए गए हैं । पहले लिए जा चुके फैसलों में हायर सेकंडरी स्कूलों, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय, सार्वजनिक परिवहन, टीआरसी श्रीनगर में अतिरिक्त यात्रा काउंटर, जनता और सरकारी विभागों की सुविधा के लिए प्रत्येक जिले में 25 इंटरनेट कियोस्क खोलने और सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति की निगरानी करने जैसे अहम फैसले शामिल हैं ।

राज्यपाल मलिक की सोमवार की बैठक में बीडीसी चुनाव की तैयारियों पर भी विस्तृत चर्चा हुई। इसमें यह बात निकल कर सामने आई कि लोगों को इस चुनाव में बेहद दिलचस्पी है और बीडीसी अध्यक्ष पद की ज्यादातर सीटें भरी जाएंगी । चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हो, इसके लिए एआरओ और एईआरओ को मोबाइल फोन दिए गए हैं । सोमवार को भी बीडीसी उम्मीदवारों ने अपने नामांकन पत्र भरे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!