रोहतास में किसानों का मछली पालन की तरफ बढ़ा रुझान, मिलने लगी ख्याति

अविनाश श्रीवास्तव (संवाददाता)

रोहतास जिला को धान का कटोरा कहा जाता है यहां का किसान खेती में अपना नाम रोशन तो करते ही हैं अब यह किसान मछली पालन के तरफ भी अपना व्यवसाय करना शुरू कर दिया है । रोहतास जिला में मत्स्य पालन व्यवसायिक रूप से काफी प्रचलित होते जा रहा है । यहां के लोग मत्स्य पालन में काफी दिलचस्पी रख रहे हैं । वही मत्स्य पालन में किसान दुर्गा प्रसाद ने कहा कि हम 40 वर्षों से मत्स्य पालन कर रहा हूं जो पहले काफी परेशानियां होती थी । पालन करने में अब वह परेशानी या नहीं रह गई है क्योंकि सरकार की तरफ से भी काफी मदद मिलती है और जिससे मत्स्य पालन में व्यवसाय काफी बढ़ गया है ।

https://janpadnewslive.com/wp-content/uploads/2019/10/WhatsApp-Image-2019-10-05-at-11.14.56-AM.jpeg

बिहार के बाहर तक के लोग हमारे पास मछली के बीज और मछली खरीदने के लिए आते जाते रहते हैं। गौरतलब है कि सासाराम में मछली व्यवसाय काफी प्रचलित हो चुका है । इस व्यवसाय में दूसरे राज्य के भी लोग सासाराम में आकर मत्स्य पालन का व्यवसाय कर रहे हैं क्योंकि सासाराम का मछली दूसरे राज्यों में काफी मांग है । खास तौर पर भाकुर कतला रेहु नयन प्यासी रूपचंदा कोमल कार इन सब मछलियों का विशेष मांग है दूसरे राज्यों में मछलियों को बाहर भेजने के दौरान विशेष पैकिंग किया जाता है ।पॉलिथीन पानी के साथ गैस से भरकर पैकिंग किया करने में मछली 12 घंटा तक जीवित रहता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!