कचनरवा में पाण्डू नदी पर बना पुलिया टूटा, आवागमन बाधित

पी0 के0 विश्वकर्मा (संवाददाता)

कोन (सोनभद्र) । कचनरवा से भालूकुदर सतद्वारी समेत दर्जनों गांवों के हजारों जनसंख्या से जोड़ने वाली पाण्डू नदी पर बना पुलिया नदी में आयी उफान के कारण बह गयी जिससे भालूकुदर, केवाल, पीपरखाड समेत दर्जनों गांवों का आवागमन बाधित हो गया है। जानकारी के अनुसार कचनरवा से भालूकुदर जो लगभग 10000 आबादी के लिए यही एक मात्र रोड है। जिसके माध्यम से आदिवासी बहुल्य इलाकों के लोगो को कचनरवा कोन डाला चोपन रावर्ट्सगंज सोनभद्र जाने के लिए यही एक मात्र रोड है जो कि इसका पुलिया तेज बारिश के कारण नदी मे आयी उफान से बह गयी । इस समय सतद्वावारी भालूकुदर, धरनवा, बरवाहा बिछमरवा केरवा पीपरखाड समेत कई गांवों का आवागमन ठप हो गयी है ।

नदी पार के ग्रामीण किसी प्रकार लम्बी दुरी तय कर कुडवा की ओर से आने को मजबूर है।बतादे कि उक्त पुलिया 2017 मे ही क्षतिग्रस्त हो गया था परन्तु उस समय ग्राम प्रधान द्वारा किसी प्रकार मिट्टी भरवा कर काम चला रहे थे कि पुनः अभी हाल मे भारी बरसात के कारण नदी मे आयी बाढ से पुलिया बह जाने से आवागमन बाधित हो गयी। क्षेत्र के ओमप्रकाश यादव, राकेश तिवारी, विजय तिवारी, समेत हजारों ग्रामीणों ने जिला प्रशासन का ध्यान इस ओर आकर्षित कराते हुये उक्त पुलिया निर्माण कराने की गुहार लगाई है ताकि आवागमन बहाल हो सके।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!