चोपन रामलीला में मर्यादा पुरुषोत्तम राम चन्द्र जी के 14 वर्षों के वनवास संवाद का हुआ मंचन

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

चोपन। स्थानीय रामलीला मैदान मे चल रहे रामलीला मंचन के छठे दिन प्रभु राम जी के 14वर्षों के वनवास का सुंदर कार्यक्रम गुरुवार की रात्रि दिखाया गया, जिसमे मर्यादा पुरुषोत्तम राम चन्द्र जी की आदर्शवादी चरित्र को देखते ही सभी के आखो से आंसू आ गये । आदर्श रामलीला कला मंडल मैहर सतना मध्य प्रदेश से आए हुए कलाकारों ने राम वनवास का बहुत ही सुंदर मंचन किया जिसमे अयोध्या नरेश राजा दशरथ

से माता कैकेयी ने दो वरदान मांगे। पहला वरदान राम को 14 वर्ष का वनवास और दूसरा भरत के लिए राज्य मांगा। यह सुनकर राजा दशरथ रानी को समझाते हैं लेकिन वो जिद पर आ जाती है। इधर खबर मिलते ही प्रभु राम वनवास जाने के लिए तैयार हो गए। इनके साथ लक्ष्मण और माता सीता भी उनके साथ चल देते हैं। राम बड़ा समझाते है मगर भाई लक्ष्मण व माता सीता नहीं मानती हैं। प्रभु राम माता कैकेयी को राज मुकुट ,आभुषण सब देकर चुपचाप

सीता जी व लक्ष्मण जी के साथ वन के लिए निकल जाते हैं। इधर जब यह समाचार राजा दशरथ के पास पहुंचा तो राम के विलाप में बिलख पड़ते है । सुंदर अभिनय के द्वारा कलाकारों ने लोगों का दिल जीत लिया। इस मौके पर राकेश उपाध्याय, सत्यप्रकाश तिवारी, संजय जैन, रोशन सिंह, रामनरेश चौधरी वही आयोजन समिति के अध्यक्ष सुनील सिंह, उपाध्यक्ष सुरेश जायसवाल, महामंत्री मनोज सिंह, कोषाध्यक्ष राजेश गोस्वामी, रिन्कू अग्रहरी आदि लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!