रैली निकालकर दिया स्वच्छता का संदेश,लिया प्लास्टिक मुक्त करने का संकल्प

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी। गांधी जयन्ती के अवसर पर माँ सरस्वती जनकल्याण समिति के तत्वावधान में बुधवार को हरपुरा गांव में रैली निकालकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया।इस दौरान बच्चों ने महात्मा गांधी के रूप में सड़कों पर झाड़ू लगाकर लोगो को साफ सफाई व्यवस्था को अपनाने संदेश दिया और लोगो से साफ सफाई रखने तथा प्लास्टिक का उपयोग बंद करने एवं स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग करने की अपील की।हरपुरा गांव के माँ सरस्वती जनकल्याण समिति के प्रांगण से जन जागरूकता रैली निकाली गई जो गांव के मुख्य मार्ग से होते हुए सबसे पहले बैरखड़ गांव के चौराहे तक गया इसके बाद गांव भ्रमण कर वापस हुआ जहां लोगों ने स्वच्छता अभियान तथा प्लास्टिक प्रतिबन्ध का संकल्प लिया।समिति के डायरेक्टर रमेश यादव ने कहा कि सफाई हमारे जीवन का नियमित अंग बनना चाहिए तथा हमें सफाई को हमारी दिनचर्या में स्थायी तौर से शामिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिना सफाई हमारा शरीर बीमारियों का घर बन जाता है, जिससे हम जीवन में अच्छी तरह फल-फूल नहीं पाते, इसलिए स्वच्छता में ही भलाई है और यह जीवन में आगे बढ़ने की राह है।

स्वच्छता मानव का एक गुण है –

बैरखड़ गांव के ग्राम प्रधान अमर सिंह गौड़ ने कहा कि स्वच्छता मानव समुदाय का एक आवश्यक गुण है। यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव के सरलतम उपायों में से एक प्रमुख उपाय है। यह सुखी जीवन की आधारशिला है। इसमें मानव की गरिमा, शालीनता और आस्तिकता के दर्शन होते हैं। स्वच्छता के द्वारा मनुष्य की सात्विक वृत्ति को बढ़ावा मिलता है। वहीं साफ-सुथरा रहना मनुष्य का प्राकृतिक गुण है । वह अपने घर और आस-पास के क्षेत्र को साफ रखना चाहता है । वह अपने कार्यस्थल पर गंदगी नहीं फैलने देता । सफाई के द्वारा वह सांपों, बिच्छुओं, मक्खियों, मच्छरों तथा अन्य हानिकारक कीड़ों-मकोड़ों को अपने से दूर रखता है। सफाई बरतकर वह अपने चित्त की प्रसन्नता प्राप्त करता है। सफाई उसे रोगों के कीटाणुओं से बचाकर रखती है। इसके माध्यम से वह अपने आस-पड़ोस के पर्यावरण को प्रदूषण से मुक्त रखता है।

स्वभाव के विपरीत काम-

कार्यक्रम के दौरान हरपुरा ग्राम प्रधान नारदमुनि यादव ने कहा कि कुछ लोग अपने स्वभाव के विपरीत सफाई को कम महत्त्व देते हैं । वे गंदे स्थानों में रहते हैं । उनके घर के निकट कूड़ा-कचरा फैला रहता है। घर के निकट की नालियों में गंदा जल तथा अन्य वस्तुएं सड़ती रहती हैं। निवास-स्थान पर चारों तरफ से बदबू आती है। वहां से होकर गुजरना भी दूभर होता है। वहां धरती पर ही नरक का दृश्य दिखाई देने लगता है। ऐसे स्थानों पर अन्य प्रकार की बुराइयों के भी दर्शन होते हैं। वहां के लोग संक्रामक बीमारियों से शीघ्र ग्रसित हो जाते हैं । गंदगी से थल, जल और वायु की शुद्धता पर विपरीत असर पड़ता है।

इस मौके पर हरपुरा ग्राम प्रधान नारदमुनि यादव, बैरखड़ ग्राम प्रधान अमर सिंह गौड़, समिति के संचालक रमेश यादव, हरिकिशुन, मनोज गुप्ता, आलोक यादव,प्रियंका सिंह सहित काफी संख्या में ग्रामीण एवं बच्चे मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!